ताजा

अमेज़न के जेफ़ बेज़ोस पर क्यों भड़की हुई है मोदी सरकार?

दुनिया के सबसे अमीर शख़्स और ई-कॉमर्स बिज़नेस के बहुत बड़े खिलाड़ी जेफ़ बेज़ोस ने नई दिल्ली में अमेज़न के एक कार्यक्रम में ये बातें कही.

उनके इस बयान को अभी 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, “वो (जेफ़ बेज़ोस) एक अरब डॉलर का निवेश कर सकते हैं, लेकिन फिर वो हर साल एक अरब डॉलर का घाटा दिखाते हैं, वो अपने नुक़सान का इंतज़ाम भी कर रहे होंगे. निवेश का स्वागत है, लेकिन ये इसलिए लिया गया है कि ताकि वो अपने घाटे की भरपाई कर सकें. लेकिन वो भारत पर कोई अहसान नहीं कर रहे हैं. ऑनलाइन कारोबार मंच उपलब्ध कराने वाली कंपनी अगर दूसरों का बाज़ार बिगाड़ने वाली मूल्य नीति पर नहीं चल रही है तो उसे इतना बड़ा घाटा कैसे हो सकता है?”

अमेज़न और फ़्लिपकार्ट जैसी कंपनियों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करने वाले संगठन ‘कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स’ ने गोयल के बयान की तारीफ़ की है.

संगठन के अध्यक्ष प्रवीण खंडेलवाल ने कहा, “इससे पता चलता है कि सरकार देश के उन सात करोड़ स्थानीय व्यापारियों के हितों को लेकर संवेदनशील है जो बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों की ग़लत नीतियों की वजह से नुक़सान झेल रहे हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button