पॉलिटिक्स

कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी का क्या हुआ?

5 दिसंबर को कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे. इन सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए 9 दिसंबर की सुबह से वोटों की काउंटिंग की जा रही है. सरकार में बने रहने के लिए बीजेपी को 7 से ज्यादा सीटों पर जीतना होगा. विधायकों के पाला बदलने, अयोग्य होने के बाद यहां उपचुनाव हुए थे. बीजेपी अभी 12 सीटों पर आगे चल रही है. आइए सभी सीटों का हाल जानते हैं.

अठानी

बीजेपी के महेश, कांग्रेस के गजानन भालचंद्र से 19,365 वोटों से आगे चल रहे हैं.

कगवाड़

बीजेपी के श्रीमंत बालासाहेब पाटिल, कांग्रेस के भरमगौड़ा से 14,883 वोटों से आगे चल रहे हैं.

गोकक

बीजेपी के जर्किहोली रमेश लक्ष्मणराव, कांग्रेस के लखन लक्ष्मणराव जर्किहोली से 12,459 वोटों से आगे चल रहे हैं.

येलापुर

बीजेपी के अरबिल हेब्बर, कांग्रेस के भीमन्ना नाईक से 31,408 वोटों से जीत गए हैं.

हिरेकेरूर

बीजेपी के बीसी पाटिल, कांग्रेस के बन्नीकोड बसप्पा से 17,260 वोटों से आगे चल रहे हैं.

रानीबेन्नूर

बीजेपी के अरुण कुमार, कांग्रेस के केबी कोलीवाड से 12,344 वोटों से आगे चल रहे हैं.

विजयनगर

बीजेपी के आनंद सिंह, कांग्रेस के वीवाय घोरपाडे से 27,916 वोटों से आगे चल रहे हैं.

चिकबेलापुर

बीजेपी के के सुधाकर, कांग्रेस के एम अंजनकप्पा से 34,801 वोटों से आगे चल रहे हैं.

के.आर. पुरम

बीजेपी के बीए बसवराजा, कांग्रेस के एम नारायण स्वामी से 22,607 वोटों से आगे चल रहे हैं.

यशवंतपुरा

बीजेपी के एसटी सोमशेखर, कांग्रेस के टीएन जावाराई गौड़ा 26,671 वोटों से आगे चल रहे हैं.

महालक्ष्मी लेआउट

बीजेपी के के गोपालनाथ, कांग्रेस के एम शिवराजू से 42,149 वोटों से आगे चल रहे हैं.

शिवाजीनगर

कांग्रेस के रिजवान अरशद, बीजेपी के एम सर्वना से 14,730 वोटों से आगे चल रहे हैं.

होसाकोटे

इंडिपेंडेंट कैंडिडेट शरत कुमार, बीजेपी के एन नागराजू से 7,699 वोटों से आगे चल रहे हैं.

के.आर. पेटे

बीजेपी के नारायण गौड़ जनता दल, सेक्युलर के बीएल देवराज से 10,509 वोटों से आगे चल रहे हैं.

हुनसूर

कांग्रेस के एचपी मंजुनाथ बीजेपी के एच विश्वनाथ 39,727 वोटों से आगे चल रहे हैं.

बहुमत के लिए 113 का आंकड़ा चाहिए. बीजेपी के पास अभी 105 विधायक हैं. इसके साथ ही बीजेपी को एक इंडिपेंडेंट विधायक का समर्थन है. जिन 15 सीटों का नतीजा आना है, उसमें बीजेपी के लिए 7 से अधिक सीटें जीतना जरूरी है. कांग्रेस के पास 68 विधायक (11 बागी), जेडीएस के पास 34 विधायक (3 बागी) हैं.

येदियुरप्पा के सत्ता में आने से पहले कांग्रेस-जेडीएस की सरकार कांग्रेस के 14 और जनता दल सेक्युलर के तीन विधायक के इस्तीफे से गिर गई थी. इन सभी बागी विधायकों को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने बताया था.

कर्नाटक विधानसभा में कुल 224 सीटें हैं. 15 सीटों पर हुए चुनाव के नतीजे के बाद कुल 222 सीटों के आधार पर किसी पार्टी को सरकार बनाने के लिए 112 सीटें चाहिए क्योंकि 2 सीटों पर राज्य की हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button