इकोनामी एड फ़ाइनेंस

Union Budget 2020: इन 4 बजट पर होती है सबसे ज्यादा चर्चा, आप भी जानिए क्या थीं वजहें

: नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Modi Government 2.0 का दूसरा बजट एक फरवरी को पेश होगा। बजट से देश की आर्थिक सेहत और तस्वीर को देखने में मदद मिलती है। बजट से लोगों को काफी उम्मीदें होती हैं। आम लोग Income Tax में कटौती के साथ और भी कई तरह के उपायों की उम्मीद करते हैं, वहीं कंपनियां निवेश को लेकर उठाए जाने वालों कदमों का आंकती हैं। इससे सरकार के नीतिगत रुख का पता चलता है। यही वजह है कि देश के आर्थिक मुद्दों में बहुत कम दिलचस्पी लेने वाले लोग भी Budget पर चर्चा करते हैं।

आइए जानते हैं कि भारतीय इतिहास के उन चार बजटों के बारे में जिनके बारे में हमेशा चर्चा होती रहती हैः

कलडोर बजट: तात्कालीन वित्त मंत्री टी टी कृष्णामाचारी ने वित्त वर्ष 1957-58 का यह बजट पेश किया था। इस बजट को 15 मई, 1957 को पेश किया गया गया था। यह केंद्रीय कई लिहाज से बहुत अहम था। वित्त वर्ष 1957-58 के बजट में कई बड़े फैसले लिए गए। इन फैसलों का सकारात्मक और नकारात्मक असर कालांतर में देखने को मिला। इस बजट में Non-Core Projects के लिए आबंटन को वापस लेने का ऐलान किया गया था। इसमें वेल्थ टैक्स लगाया गया था तथा एक्साइज ड्यूटी में 400 फीसद की जबरदस्त वृद्धि की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button