पॉलिटिक्स

असम में असहज शांति, बंगाल में उबाल, पीएम मोदी बोले-हिंसा के लिए ‘कांग्रेस और उनके मित्र’ जिम्मेदार

गुवाहाटी/दुमका/कोलकाता। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर असम में असहज शांति बनी हुई है जबकि पश्चिम बंगाल में रविवार को अराजकता का माहौल रहा। वहीं देश के अलग-अलग हिस्सों से आगजनी और लूट की खबरें भी सामने आई हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इन सबके लिए ‘‘कांग्रेस और उनके मित्रों’’ को जिम्मेदार ठहराया है। स्थिति में सुधार के कारण गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू में कई घंटे की ढील दी गई लेकिन शांतिपूर्ण प्रदर्शन जारी रहे।इस बीच, असम गण परिषद् (अगप) ने अपने मंत्रियों से इस्तीफा देने की अपील की है। गुवाहाटी में कानून-व्यवस्था की स्थिति में सुधार को देखते हुए सोमवार को सुबह छह बजे से रात नौ बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई है। असम पुलिस के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजीव सैकिया ने पीटीआई को बताया कि रात के समय कर्फ्यू जारी रहेगा।

वित्त और स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने भी ट्वीट किया, ‘‘गुवाहाटी में सोमवार से दिन का कर्फ्यू पूरी तरह हटा लिया जाएगा क्योंकि शहर में स्थिति सामान्य हो रही है। बहरहाल रात में नौ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा।’’ अगप असम में भाजपा नीत सरकार का हिस्सा है। दबाव में अगप ने यू-टर्न लेते हुए विवादास्पद कानून के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का निर्णय किया।

बहरहाल, पीएम मोदी ने झारखंड के दुमका में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘नागरिकता कानून को लेकर कांग्रेस और इसके सहयोगी आग लगा रहे हैं लेकिन पूर्वोत्तर के लोगों ने हिंसा को नकार दिया है। कांग्रेस के कृत्य साबित करते हैं कि संसद में लिए गए सभी निर्णय सही हैं।’’

किसी समुदाय का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि ‘‘जो लोग आग भड़का रहे हैं’’ उनकी पहचान उनके कपड़ों से की जा सकती है। मोदी ने कहा, ‘‘जो लोग आग लगा रहे हैं उन्हें टीवी पर देखा जा सकता है। उनकी पहचान उनके कपड़ों से की जा सकती है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button