पॉलिटिक्स

महाराष्ट्र में कांग्रेस गठबंधन का हिस्सा, निर्णय लेने में उसकी भी सुने उद्धव सरकार: अशोक चव्हाण

मुंबई. कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस, राज्य में बनी उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार का हिस्सा है और निर्णय लेने के दौरान इसकी बात भी सुनी जानी चाहिए. चव्हाण ने एक इंटरव्यू में कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने वाली तीनों पार्टियों के बीच संतुलन की जरूरत है. राज्य में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी सरकार में राकांपा और कांग्रेस सहयोगी हैं. तीनों राजनीतिक दलों ने मिलकर महाराष्ट्र विकास आघाडी गठबंधन बनाया है.

तीनों पार्टियां देश के संविधान से बंधी हैं

कांग्रेस नेता ने कहा कि तीनों पार्टियां न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर साथ आई हैं और देश के संविधान से बंधी हैं. इस पर कोई समझौता नहीं होगा. उनसे पूछा गया था कि क्या वह या पृथ्वीराज चव्हाण, ठाकरे नीत सरकार का हिस्सा होंगे, तो उन्होंने कहा कि इस पर निर्णय करना कांग्रेस नेतृत्व का विशेषाधिकार है.

कांग्रेस को मुखर होने की जरूरत

अशोक चव्हाण ने कहा, ‘यह मेरे या पृथ्वीराज चव्हाण के बारे में नहीं है. पार्टी नेतृत्व को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि संतुलन हो. कांग्रेस को मुखर होने की जरूरत है और निर्णय लेने में उसकी आवाज सुनी जानी चाहिए.’

मंत्रालयों का आवंटन करने में कोई विवाद नहीं

मंत्रालयों के आवंटन में विवाद के बारे में किए गए सवाल पर चव्हाण ने कहा, ‘विभागों के आवंटन पर कोई विवाद नहीं है. 70-80 प्रतिशत विभागों पर एक राय है. कुछ विभागों को लेकर तीनों पार्टियों को लगता है यह उन्हें मिलना चाहिए. इसे हल करना मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है.’ उन्होंने कहा कि सलाह-मशविरा चल रहा है और मंत्रालयों का आवंटन करने में कोई विवाद या देरी नहीं हो रही है. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने कहा कि, उद्धव ठाकरे के विभागों के आवंटन करने पर कोई विवाद नहीं है. 70-80 प्रतिशत विभागों पर एक राय है. कुछ विभागों को लेकर तीनों पार्टियों को लगता है कि यह उन्हें मिलना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button