चुनाव

दिल्ली चुनाव में केजरीवाल पर हर राजनीतिक हमले की ढाल बन गए शिक्षा के मंदिर…

दिल्ली चुनाव में आम आदमी पार्टी को मिली प्रचंड जीत में केजरीवाल सरकार के मोहल्ला क्लीनिक और सरकारी स्कूल, इन दोनों की अहम भूमिका रही है। चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल पर जितने भी राजनीतिक हमले हुए, शिक्षा और स्वास्थ्य का मुद्दा उनकी ढाल बने रहे।

यहां तक कि सीएए और शाहीन बाग को लेकर विपक्षी दलों ने उन्हें आतंकवादी तक कह दिया, लेकिन इसके बावजूद आम आदमी पार्टी अपने कामों को लेकर उनके समक्ष डटी रही।  2015-16 में दिल्ली सरकार ने स्वास्थ्य पर 3300 करोड़ रुपये खर्च किए थे, जबकि 2019-20 में यह बजट 7485 हो गया है।

इसी तरह 2015-16 में आप की सरकार ने शिक्षा के लिए 6208 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया था, वहीं 2019-20 के लिए यह बजट 15 हजार करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है। दुनिया की कई शख्सियत केजरीवाल सरकार के मोहल्ला क्लीनिक और सरकारी स्कूलों का दौरा कर चुकी हैं।

आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह बताते हैं, चुनाव प्रचार में आरोप-प्रत्यारोप चलता है, विपक्ष जमकर हमले करता है, मगर वोटिंग के दौरान दिल्ली के लोगों ने केजरीवाल सरकार के स्कूल, मोहल्ला क्लीनिक और बिजली पानी की बेहतर प्रबंध व्यवस्था को अपने जेहन में रखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button