सूडान में एक सिरेमिक फैक्ट्री परिसर में हुए विस्फोट में 18 भारतीयों समेत 23 लोगों की मौत हो गई।

0
16

सूडान में एक सिरेमिक फैक्ट्री परिसर में हुए विस्फोट में 18 भारतीयों समेत 23 लोगों की मौत हो गई। 130 से अधिक घायल हो गए। हालांकि, कुछ शव इतनी बुरी तरह जल गए हैं कि उनकी पहचान में दिक्कत आ रही है। विस्फोट मंगलवार शाम खार्तून के बाहरी इलाके में हुआ। सूडान स्थित भारतीय दूतावास ने बुधवार को यह जानकारी दी। इससे पहले मंगलवार को दूतावास ने हादसे में 16 भारतीयों के लापता होने की जानकारी दी थी।

रिपोर्ट के मुताबिक फैक्ट्री में सुरक्षा उपकरण भी नहीं थे, जिस वजह से आग तेजी से फैली। स्थानीय न्यूज एजेंसी के अनुसार फैक्ट्री में गैस टैंकर खाली करते वक्त यह हादसा हुआ।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने हॉटलाइन नंबर जारी किया

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट किया- सूडान की राजधानी खार्तूम के बाहरी इलाके स्थित सिरेमिक फैक्ट्री में धमाका होने की दुखद खबर मिली। यह जानकर दुख हुआ कि कुछ भारतीय मजदूरों ने भी जान गंवा दी। दूतावास के प्रतिनिधि मौके पर पहुंच गए हैं। 24 घंटे इमर्जेंसी हॉटलाइन नंबर +249-921917471 जारी कर दिया गया है।दूतावास सोशल मीडिया पर भी अपडेट दे रहा है। हमारी प्रार्थना मजदूरों और उनके परिवारों के साथ है।

आग लगने के कारणों का पता लगाएगी कमेटी

सूडान सरकार ने कहा- औद्योगिक क्षेत्र स्थित फैक्ट्री में गैस टैंकर को खाली करते समय धमाका हुआ। इसका कारण वहां मौजूद अत्यंत ज्वलनशील पदार्थ को सही ढंग से नहीं रखा जाना और सुरक्षा उपकरणों का अभाव था। आग लगने के कारणों की जांच के लिए कमेटी गठित की गई है। कमेटी यह भी पता लगाएगी कि हादसे को कैसे रोका जा सकता था।

सुरक्षित नागरिक सिरेमिक फैक्ट्री में भेजे गए

दूतावास ने कहा- कुछ लापता नागरिक भी मृतकों की सूची में शामिल हो सकते हैं। 7 भारतीय अस्पताल में भर्ती हैं, जिनमें से 4 की स्थिति गंभीर है। 34 भारतीय नागरिक सही सलामत हैं। सभी को सलूमी सिरेमिक फैक्ट्री में भेजा गया है।