बिहार

सुशील मोदी ने पेश किया 2 लाख 11 हजार 761 करोड़ का बजट, शिक्षा और कृषि पर जोर

डिप्टी सीएम औरवित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार को बिहार का बजट पेश किया। मोदी ने कहा- 2020-21 का बजट 2 लाख 11 हजार 761 करोड़ रुपए है, जो कि पिछली बार से 11 हजार 260 करोड़ रुपए ज्यादा है। पिछली बार 2 लाख 501 करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया था। बिहार सरकार ने इस बार के बजट में सबसे ज्यादा जोर शिक्षा पर दिया है। शिक्षा के लिए बजट 35 हजार 191 करोड़ रुपए रखा गया है। स्वास्थ्य के लिए 10 हजार 937 करोड़ और सड़क निर्माण के लिए 17 हजार 345 करोड़ रुपए का बजट रखा गया है।

बिहार सरकार ने मौसम के अनुकूल खेती को बढ़ावा देने का लक्ष्य रखा है। इसके अंतर्गत हैप्पी बुआई की तकनीक और जल संरक्षण को बढ़ावा देना है। 2019-20 से 2023-24 तक पांच सालों के लिए 60.05 करोड़ रुपए की स्वीकृति राज्य सरकार द्वारा प्रदान की गई है। इसके अलावा जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए बिहार राज्य जैविक मिशन का गठन किया जाएगा। 2019-20 से 2021-22 तक तीन सालों के लिए कुल 155.88 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। साथ ही वर्मी कम्पोस्ट, हरी खाद, जैव उर्वरक के व्यवहार के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जाएगा प्रोत्साहित किया जायेगा। सरकार ने 21,000 एकड़ में जैविक खेती का लक्ष्य रखा है।

बिहार सरकार ने शिक्षा के लिए इस बार 35 हजार करोड़ रुपए का बजट तैयार किया है। सरकार ने बांका में उन्नयन योजना शुरू किया है जिसके अंतर्गत नवीं एवं दसवीं के छात्रों इलेक्ट्रॉनिक के माध्यम से पढ़ाई कराई जाती है। सरकार ने अब इस योजना को सभी उच्च माध्यमिक विद्यालयों में लागू करने की योजना तैयार की है। इसमें 5565 विद्यालयों में 50.08 करोड़ रुपए खर्च होंगे। वर्ष 2019-20 में कंपोजिट स्कूल ग्रांट के लिए लक्षित 72 हजार विद्यालयों के लिए 403 करोड़ का बजट है। सिमुलतला आवासीय विद्यालय के आधारभूत संरचना के लिए 75 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button