स्पोर्ट्स

भैंस लेकर उसैन बोल्ट से भी तेज दौड़े थे श्रीनिवास, अब खेल मंत्री से मिला ट्रायल्स का बुलावा

बफेलो रेस (भैंसा दौड़) में 13.62 सेकेंड में 142.50 मीटर दूरी तय करने वाले श्रीनिवास गौड़ा से देश के खेलमंत्री भी प्रभावित हो चुके हैं। शायद यही वजह है कि कर्नाटक के रहने वाले इस 28 वर्षीय युवक को कीरेन रिजिजू ने ट्रायल्स के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) में बुलाने की बात कही है।

समाचार एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि, ‘मैं शीर्ष SAI कोच द्वारा परीक्षणों के लिए श्रीनिवास गौड़ा को बुलाऊंगा। ओलंपिक में आम तौर पर एथलेटिक्स के बारे में आमलोगों को सही जानकारी नहीं है, वहां बेहद मानव शक्ति और धीरज को पार पाना होता है। मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि भारत की किसी भी प्रतिभा के साथ अन्याय न हो।

दक्षिण कन्नड़ जिले के मूदाबिदरी के रहने वाले 28 वर्षीय श्रीनिवास गौड़ा ने इस पारंपरिक खेल के 30 साल पुराने रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया। इस खेल को कंबाला रेस भी कहा जाता है। अब गौड़ा की तुलना दुनिया के सबसे तेज धावक उसेन बोल्ट से की जा रही है। बोल्ट के नाम 100 मीटर रेस में 9.58 सेकेंड का वर्ल्ड रिकॉर्ड है।

जैसे ही गौड़ा ने 13.62 सेकंड में 142.50 मीटर दौड़ पूरी की तो लोगों ने गणना शुरू की कि 100 मीटर में उनकी गति क्या रही होगी। जब इस बात का आंकलन किया गया तो पता चला कि गौड़ा ने 100 मीटर की दूरी महज 9.55 सेकेंड में पूरी की, जो उसेन बोल्ट के रिकॉर्ड टाइमिंग से .03 सेकेंड कम है। बोल्ट के नाम 100 मीटर रेस में 9.58 सेकेंड का वर्ल्ड रिकॉर्ड है।

हालांकि गौड़ा के रिकॉर्ड की तुलना सीधे तौर पर बोल्ट से नहीं की जा सकती है, क्योंकि श्रीनिवास भैंसों के जोड़े के साथ कीचड़ में दौड़ रहे थे। इस दौरान रफ्तार कुछ अलग हो जाती है। बोल्ट से तुलना के बिना भी गौड़ा का यह कमाल अपने आप में उल्लेखनीय है।

श्रीनिवास की दौड़ ने उन्हें रातोंरात सनसनी बना दिया है। गौड़ा ने मीडिया को बताया कि लोगों द्वारा मिल रही प्रतिक्रियाओं से वह काफी आश्चर्यचकित है। उन्होंने कहा कि मैं कंबाला से प्यार करता हूं। मेरी सफलता का श्रेय मेरी दो भैंसों को भी जाना चाहिए। वे बहुत अच्छी तरह से दौड़े। उसैन बोल्ट दुनिया के सर्वश्रेष्ठ धावक हैं और मैं कीचड़ में दौड़ने वाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button