स्पोर्ट्स

South Asian Games 2019: भारत ने रेसलिंग में किया क्लीन स्वीप, बॉक्सिंग में चार मेडल पक्के

काठमांडू. ओलिंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक (Sakshi Malik) की अगुवाई में भारतीय पहलवानों ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों (South Asian Games) में रविवार को कुश्ती (Wrestling) में चार स्वर्ण पदक जीते.

भारत ने कुश्ती में जीते 12 गोल्ड मेडल

भारत (India) ने इस तरह से कुश्ती में अपना दबदबा बनाये रखा. उन्होंने अब तक सभी 12 वर्गों में स्वर्ण पदक जीते हैं. साक्षी (Sakshi Malik) ने महिलाओं के 62 किग्रा में आसानी से पहला स्थान हासिल किया जबकि अंडर-23 विश्व चैंपियनशिप (U23 World Championship) के रजत पदक विजेता रविंदर ने पुरुष फ्रीस्टाइल के 61 किग्रा में सोने का तमगा हासिल किया. साक्षी के चारों मुकाबले एकतरफा रहे लेकिन रविंदर को पाकिस्तान के एम बिलाल को हराने के लिये मशक्कत करनी पड़ी.

साक्षी मलिका के अलावा 12 खिलाड़ियों ने गोल्ड जीता

पवन कुमार (पुरुष फ्रीस्टाइल 86 किग्रा) और अंशु (महिला 59 किग्रा) ने भी अपने अपने वर्गों में स्वर्ण पदक जीता. सोमवार को प्रतियोगिता के अंतिम दिन गौरव बालियान (Gaurav Baliyan) (74 किग्रा) और अनिता शेरोन (68 किग्रा) क्रमश: पुरुष और महिला फ्रीस्टाइल में अपने मुकाबले खेलेंगे.

चार बॉक्सर ने फाइनल में बनाई जगह

राष्ट्रमंडल खेलों के मौजूदा चैंपियन विकास कृष्णन (Vikash Krishnan) (69 किग्रा) और 2014 राष्ट्रमंडल खेलों की कांस्य पदक विजेता पिंकी रानी (Pinki Rani) सहित भारत ने सात मुक्केबाजों ने रविवार को 13वें दक्षिण एशियाई खेलों (South Asian Games) के फाइनल में जगह बनायी. पुरुष वर्ग में विकास के अलावा स्पर्श (52 किग्रा), वरिंदर (60 किग्रा) ओर नरेंदर (91 किग्रा से अधिक) ने जबकि महिला वर्ग में पिंकी रानी (51 किग्रा), सोनिया लाठेर (57 किग्रा) और मंजू बोम्बोरिया (64 किग्रा ने फाइनल में प्रवेश किया.

भारत के केवल एक मुक्केबाज सचिन (81 किग्रा) को हार का सामना करना पड़ा. भारत के आठ मुक्केबाज शनिवार को फाइनल में पहुंचे थे. इस तरह से अब कुल 15 भारतीय मुक्केबाज खिताबी मुकाबले में जगह बना चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button