राष्ट्रीय समाचार

जबरदस्ती दुकान करा रहे थे बंद, लाल मिर्ची डाल दुकानदार ने

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के विरोध में बुधवार को भारत बंद (Bharat Bandh) का आह्वान किया गया।  इस भारत बंद के आह्वान का मुख्‍य एजेंडा CAA, NRC और EVM का विरोध है। विरोध के अलावा बहुजन क्रांति मोर्चा ने यह मांग भी उठाई है कि NRC, DNA के आधार पर लागू होना चाहिए।बहुजन क्रांति मोर्चा द्वारा बुलाए गए भारत बंद का हैदराबाद व तेलंगाना के दूसरे शहरों में मिला-जुला प्रभाव रहा। हैदराबाद के मुस्‍लिम बहुल इलाकों में दुकानों व अन्‍य प्रतिष्‍ठानों के साथ तमाम शिक्षण संस्‍थान बंद रहे। वहीं, पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बुधवार को दो समूहों के बीच हुई झड़प में दो लोगों की मौत हो गई। पुणे में विरोध प्रदर्शन कर रहे 250 लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

बिहार के सीतामढ़ी में नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में बुलाए गए भारत बंद के दौरान दो पक्षों में झड़प हो गई, जिसमें 15 लोग घायल हो गए। बता दें कि बहुजन क्रांति मोर्चा के इस भारत बंद को एनआरसी-सीएए का विरोध करने वाले अन्य संगठनों का भी सहयोग मिला। वहीं, दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन हुआ। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button