बिजनेस

पिचाई की सीईओ बनने पर शेयर चढ़ा और बहुत सी कंपनियां मुनाफे में।

कैलिफोर्निया. गूगल के को-फाउंडर लैरी पेज (46) की नेटवर्थ में बुधवार को 116 करोड़ डॉलर (8297 करोड़ रुपए) का इजाफा हुआ। दूसरे को-फाउंडर सर्गेई ब्रिन (46) को 113 करोड़ डॉलर (8082 करोड़ रुपए) का फायदा हुआ। गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट के शेयर में 1.87% उछाल आने से पेज और ब्रिन की नेटवर्थ बढ़ी। पेज ने अल्फाबेट के सीईओ और ब्रिन ने प्रेसिडेंट पद से मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। भारतीय मूल के सुंदर पिचाई (47) गूगल के साथ ही अल्फाबेट के सीईओ भी बना दिए गए। इस फैसले को निवेशकों ने सकारात्मक लिया, इससे अल्फाबेट के शेयर में तेजी आई।

पेज दुनिया के 7वें बड़े अरबपति, ब्रिन का 8वां नंबर
पेज के पास अल्फाबेट के 5.8% और ब्रिन के पास 5.6% शेयर हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक पेज दुनिया के 7वें बड़े अमीर हैं। उनकी नेटवर्थ 6200 करोड़ डॉलर (4.43 लाख करोड़ रुपए) है। दुनिया के 500 अरबपतियों के इंडेक्स में ब्रिन का 8वां नंबर है। उनकी नेटवर्थ 6110 करोड़ डॉलर (4.37 लाख करोड़ रुपए) है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स हर रोज अमेरिकी शेयर बाजार बंद होने के बाद अपडेट होता है।

अल्फाबेट मार्केट कैप में दुनिया की तीसरी बड़ी कंपनी है। कंपनी का मौजूदा वैल्यूएशन 90970 करोड़ डॉलर (65 लाख करोड़ रुपए) है। पहले नंबर पर एपल और दूसरे पर माइक्रोसॉफ्ट है। पेज और ब्रिन ने 2015 में गूगल की रिस्ट्रक्चरिंग करते हुए अल्फाबेट बनाई थी। उस वक्त पेज गूगल के सीईओ का पद छोड़कर अल्फाबेट के सीईओ बने थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button