पॉलिटिक्स

MP में सिंधिया की अग्निपरीक्षा! विधानसभा में पलटा सियासी आंकड़ा

राज एक्सप्रेस। मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को झाबुआ के उपचुनाव में मिली जीत से कुछ रहत मिली थी। जो की अब समाप्त होती नज़र आ रही हैं। मुरैना जिले के जौरा से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा की मौत से सरकार की चिंता बढ़ गयी हैं। विधायक बनवारी लाल शर्मा पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। शनिवार सुबह अचानक तबीयत बिगड़ने से उनका राजधानी में निधन हो गया। शर्मा की गिनती कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबियों में हुआ करती थी। इसलिए उपचुनाव में अब सिंधिया की जवाबदारी और भी महवत्पूर्ण हो जाती हैं।

कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 230 में से 114 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस तरह उसे पूर्ण बहुमत नहीं मिला था। भाजपा ने 109 सीटों पर जीत हासिल की थी। और इसके साथ ही बीजेपी को अपनी 15 साल से चल रही सरकार से हाथ गवाना पड़ा था। निर्दलीय चार, बसपा के दो और सपा के एक विधायक के समर्थन से कांग्रेस सरकार चला रही थी। झाबुआ उपचुनाव मे कांग्रेस के कांतिलाल भूरिया ने जीत दर्ज कर कांग्रेस को मजबूती प्रदान की। इस तरह कांग्रेस के विधायकों की संख्या बढ़कर 115 हो गई। अब सरकार फिर से 114 पर आ गयी हैं। अगर बीजेपी उपचुनाव जीत जाती है तो बीजेपी की संख्या फिर से 109 सीटों पर पहुंच जाएगी।

ये आंकड़े कमल नाथ सरकार के लिए ख़तरे की घंटी साबित हो सकते हैं। इसलिए इन आगामी उपचुनाव में पार्टी जान लगाने को तैयार रहेगी। इस क्षेत्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता सिंधिया का अपना ही रुतबा है। इसलिए पार्टी उपचुनाव की जिम्दारी सिंधिया को ही सौंप सकती हैं। उपचुनाव में विजय कांग्रेस को विजय प्राप्त करवाना सिंधिया के लिए अग्नि परीक्षा के ही स्मान हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button