क्रिकेट

सचिन तेंदुलकर ने वो समय किया याद, जब टीम वालों ने कहा था- तेरी तो वाट लगने वाली है

नई दिल्‍ली: भारत के महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर ने हाल ही में याद किया कि कैसे उनके टीम साथियों ने उन्‍हें अपने करियर की पहली अंतरराष्‍ट्रीय प्रेस कांफ्रेंस करने से पहले डराया था। तेंदुलकर ने इंग्‍लैंड के खिलाफ मैनचेस्‍टर में 1990 में अपने इंटरनेशनल करियर का पहला शतक जमाया था। इसके बाद उन्‍हें प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों के सवालों का सामना करना था। मास्‍टर ब्‍लास्‍टर ने दौरे के दूसरे टेस्‍ट की दूसरी पारी में नाबाद 119 रन की पारी खेली थी, जिसके दम पर टीम इंडिया मैच ड्रॉ कराने में सफल हुई थी।

युवा सचिन तेंदुलकर ने बल्‍ले से शानदार प्रदर्शन करते हुए इंग्लिश गेंदबाजों को जमकर परेशान किया और यादगार शतक बनाया। उन्‍होंने 119 रन की अपनी पारी में 17 बार गेंद को सीमा रेखा के पार भेजा। भारतीय टीम यह मुकाबला ड्रॉ कराने में सफल रही। मैच के बाद सचिन तेंदुलकर को प्रेस कांफ्रेंस में जाना था क्‍योंकि वह मैच के स्‍टार बनकर उभरे थे। हालांकि, मास्‍टर ब्‍लास्‍टर ने खुलासा किया कि उनके टीम के साथियों ने उन्‍हें प्रेस कांफ्रेंस से पहले खूब डराया और दबाव में ला दिया था।

सचिन तेंदुलकर ने इंडिया टुडे के हवाले से कहा, ‘हां मुझे याद है। यह मुकाबला मैनचेस्‍टर के ओल्‍ड ट्रैफर्ड में था। ड्रेसिंग रूम में सभी ने मुझे खूब डराया था। साथियों ने कहा था- तेरी आज वाट लगने वाली है। पत्रकार तुझसे हर तरह के सवाल पूछेंगे। उस समय हमारे मैनेजर माधव मंत्री थे। उन्‍होंने कहा- घबराने की जरुरत नहीं है। उन्‍होंने मेरे गले में हाथ डाला और कहा- मैं आपके आस-पास ही रहूंगा। आप बस मैच के बारे में बात करना।’

मैनचेस्‍टर टेस्‍ट में भारत और इंग्‍लैंड के बीच कड़ी टक्‍कर देखने को मिली थी। मेजबान टीम ने पहले बल्‍लेबाजी की और ग्राहम गूच, माइक एथर्टन व रॉबिन स्मिथ के शतकों की मदद से 519 रन स्‍कोरबोर्ड पर टांग दिए। भारतीय टीम ने मोहम्‍मद अजहरूद्दीन के 179 रन की पारी की बदौलत अपनी पहली पारी में 432 रन बनाए। इंग्‍लैंड ने दूसरी पारी में भी दमदार बल्‍लेबाजी की और 320 रन के स्‍कोर पर पारी घोषित कर दी। इस तरह टीम इंडिया को जीत के लिए 408 रन का लक्ष्‍य मिला।

भारत के पास टेस्‍ट जीतने का मौका नहीं था। मगर नियमित अंतराल में उसके विकेट गिरते गए और यह मुकाबला इंग्‍लैंड की गिरफ्त में जाता दिखा। हालांकि, तेंदुलकर एक छोर पर डटे रहे और नाबाद 119 रन की पारी खेलकर मुकाबला ड्रॉ करा दिया। सचिन तेंदुलकर की यह विशेष पारियों में से एक मानी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button