पॉलिटिक्स

राबर्ट वाड्रा का बड़ा ऐलान, यहां से लड़ेंगे चुनाव

नई दिल्ली: राजनीति की दुनिया में अब नए बहुचर्चित व्यक्ति की इंट्री होने जा रही है। ये हैं कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद और महासचिव प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा। राबर्ट वाड्रा का राजनीति में उतरना अन्य राजनीतिक दलों के लिए चर्चा का विषय हो सकता है। खुद रॉबर्ट वाड्रा ने बताया कि अगर जनता चाहेगी तो वे राजनीति में आएंगे साथ ही चुनाव भी लड़ेंगे। रॉबर्ट वाड्रा ने कहा है कि उनकी चुनाव लड़ने की पसंसदीदा जगह मुरादाबाद ही रहेगी।

कौन हैं राबर्ट वाड्रा

वाड्रा का जन्म 18 मई 1969 को हुआ था। उनके पिता का नाम राजेन्द्र वाड्रा तथा माँ का नाम मॉरीन वाड्रा है, जो कि मूल रूप से स्कॉटिश हैं। उनके दादा हुकुम राय वाड्रा यहां 1954 में पाकिस्तान के सियालकोट के एक पंजाबी खत्री परिवार से आकर पहले बेंगलुरु और फिर मुरादाबाद में आकर बस गए थे। यहीं रॉबर्ट का जन्म हुआ।

दसवीं के बाद उन्होंने पढ़ाई नहीं की

पिता राजेंद्र वाड्रा का पीतल का शुरू में छोटा-मोटा कारोबार था जो कि बाद में काफी फला फूला। रॉबर्ट ने दिल्ली के ब्रिटिश स्कूल में पढ़ाई की। दसवीं के बाद उन्होंने पढ़ाई नहीं की। हाँ ये सही बात है।

जमीन घोटाला में चल रहे हैं कई केस

हरियाणा के एक अफसर अशोक खेमका ने लैंड कंसोलिडेशन डिपार्टमेंट का चार्ज छोड़ते वक्त रॉबर्ट और भारत की एक अग्रणी रियल एस्टेट कंपनी डीएलएफ के बीच गुड़गांव जिले में हुई ज़मीन सौदे की म्यूटेशन को रद्द कर दिया। अपनी रिपोर्ट में खेमका ने कहा कि यदि सही तरीके से जांच हो तो हरियाणा की काँग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान 20 हजार करोड़ से 350 हजार करोड़ तक का जमीनों का घोटाला निकल कर सामने आ सकता है।

वॉल स्ट्रीट जर्नल का खुलासा

2014 चुनावों के दौरान अमेरिका के एक प्रतिष्ठित अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल में छपी खबर के अनुसार, वाड्रा ने 2007 में एक लाख रुपये के साथ अपने व्यापार की शुरुआत की, लेकिन 2012 में उनकी संपत्ति 300 करोड़ से भी अधिक की हो गई। अर्थव्यवस्था में छाई मंदी के समय में एसी वृद्धि आश्चर्यजनक है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button