राष्ट्रीय समाचार

दविंदर सिंह मामले में आईएसआई की भूमिका की जांच करेंगी रॉ, आईबी और ईडी

आतंकवादियों की मदद करने के आरोप में निलंबित किए गए जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी दविंदर सिंह के मामले की जांच एनआईए ने शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार, जम्मू कश्मीर पुलिस ने इस मामले में जो दस्तावेज एनआईए को सौंपे हैं, उनके आधार पर इस केस की जांच में कई दूसरी केंद्रीय एजेंसियों का शामिल होना लगभग तय है।

चूंकि इस मामले में पाकिस्तानी आईएसआई की भूमिका और हवाला लिंक होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता, इसलिए रॉ, आईबी और ईडी जैसी एजेंसियां भी दविंदर सिंह से पूछताछ करेंगी। इसके अलावा संसद हमले के मास्टरमाइंड अफजल गुरु ने अपनी फांसी से पहले लिखे पत्र में आरोपी डीएसपी को लेकर जो खुलासे किए थे, अब वह मामला भी दोबारा से जांच एजेंसियों की टेबल पर आ रहा है।
 सूत्रों के अनुसार, जम्मू कश्मीर पुलिस ने अभी तक इस मामले की जितनी भी जांच की है, उसमें एक बात तो बिल्कुल साफ हो गई है कि आरोपी डीएसपी के सीमा पार बैठे आतंकियों के साथ लिंक हैं। पाकिस्तानी आईएसआई की भूमिका और हवाला कारोबार, इसका पता लगाने के लिए दविंदर सिंह केस में दूसरी जांच एजेंसियों को शामिल करना जरूरी है।

यही वजह है कि रॉ, आईबी और ईडी जैसी एजेंसियां आरोपी डीएसपी से पूछताछ करेंगी। जम्मू-कश्मीर पुलिस के पूर्व डीजीपी कुलदीप खोड़ा ने भी कहा है कि इस मामले की प्रोफेशनल तरीके से जांच बहुत आवश्यक है। चूंकि अब उनके साथ आतंकवादी पकड़े गए हैं, तो मामला खुद-ब-खुद गंभीर बन जाता है।

ऐसा संभावित है कि इस केस में पाकिस्तानी आईएसआई की भूमिका हो, इसलिए रॉ और आईबी जैसी एजेंसी भी दविंदर सिंह से पूछताछ करेंगी। इस मामले में हवाला लिंक की बात भी सामने आई है, इसलिए ईडी को भी मामले की जांच में शामिल किया जाएगा।

गौरतलब है कि 10 जनवरी को राष्ट्रीय राजमार्ग के पास काजीगुंड इलाके में हिजबुल के दो आतंकियों के साथ डीएसपी दविंदर सिंह को गिरफ्तार किया गया था। उनकी गाड़ी से हथियार भी बरामद हुए थे। जिसके बाद जेएंडके पुलिस ने काजीगुंड थाने में 7/25 आर्म्स एक्ट, विस्फोटक सामग्री एक्ट 3/4 और यूएपीए की धारा 18, 19, 20, 38, 39 के तहत मामला दर्ज किया था। वहीं गृह मंत्रालय के आदेश के बाद एनआईए ने (RC-01/2020/NIA) मामला दर्ज कर फिर से तहकीकात शुरू कर दी है।  

खास बात है कि विपक्षी नेताओं ने पिछले साल पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले को लेकर कई तरह के सवाल उठाए थे। उस मामले की जांच भी एनआईए कर रही है। अब दविंदर सिंह मामले के तार कथित तौर पर पुलवामा हमले से जोड़ने की अपुष्ट खबरें आई हैं। हालांकि इसका खुलासा तो जांच के बाद हो पाएगा। एनआईए के पास अब दोनों मामलों की जांच है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button