राष्ट्रीय समाचार

रेल मंत्री पीयूष गोयल का दावा, 2024 तक सभी ट्रेनें इलेक्ट्रिसिटी से चलेंगी

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि अगले चार से पांच साल में भारतीय रेलवे का सौ फीसदी विद्युतीकरण हो जाएगा। इसके साथ ही इस तरह का यह दुनिया सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क होगा। गोयल ने यह बातें बृहस्पतिवार को आठवें वैश्विक ऊर्जा नीति सम्मेलन में कही। उन्होंने कहा कि रेलवे तेजी से अपने पूरे नेटवर्क का विद्युतीकरण कर रहा है।

उन्होंने कहा कि अभी रेलवे के कुल नेटवर्क का 55 फीसदी संचालन बिजली से हो रहा है। अगले चार से पांच साल में इसके सौ फीसदी बिजली से संचालन होने की उम्मीद है, जो कि दुनिया में इस तरह का सबसे बड़ा नेटवर्क होगा।

इसके साथ ही गोयल ने कहा कि सरकार ने ऊर्जा क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के  लिए कई पहल की है। बिजली उत्पादन करने वाली सभी कंपनियां इस क्षेत्र में आने वाले सभी नए निवेशों के लिए 15 प्रतिशत की निम्न आयकर दर के लिए योग्य होंगी। 2030 तक रेलवे 20 गीगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन में निवेश करेगा। उन्होंने कहा कि यह अन्य देशों को भी संदेश देगा कि वे भी विद्युतीकरण को अपनाने पर विचार करें।

गोयल ने कहा कि भारत ऊर्जा के उपयोग में बदलाव के लिए तैयार है और यह सुनिश्चित करने के लिए उच्चतम स्तर पर नजर रखी जा रही है कि दुनिया को रहने के लिए बेहतर जगह बनाने के वैश्विक प्रयासों में भारत भी भागीदार बने। उन्होंने कोयले के संदर्भ में कहा कि हम विश्व में ऊर्जा उत्सर्जन स्तर कम करने की हमारी प्रतिबद्धताओं को लेकर बहुत सचेत है। पिछले छह साल में किसी नए संयंत्र को मंजूरी नहीं दी गई है। सामान्य बल्ब की जगह पर एलईडी बल्ब के प्रयोग से हर साल आठ करोड़ टन से अधिक कार्बन ऑक्साइड उत्सर्जन में कमी आई है।

उन्होंने कहा कि लकड़ी और कोयले का इस्तेमाल करके खाना बनाने के पारंपरिक तरीकों को छोड़कर गैस के इस्तेमाल को बढ़ावा देना सरकार का महत्वाकांक्षी एवं सफल कार्यक्रम रहा है। इसके कारण प्रदूषण स्तर में गिरावट आई है। उन्होंने स्वच्छ भारत कार्यक्रम की तारीफ करते हुए कहा कहा कि इससे उत्सर्जन के स्तर पर कमी आई है और पर्यावरण का क्षरण भी कम हुआ है। प्रधानमंत्री का सपना है कि देश में बनने वाली हर कार इलेक्ट्रिक वाहन हो। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button