पॉलिटिक्स

उत्तर प्रदेश पुलिस पर प्रियंका गांधी का गंभीर आरोप, बोलीं- पुलिस ने गला दबाकर मुझे रोका

लखनऊ. कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश पुलिस पर बड़ा आरोप लगाया है। प्रियंका गांधी ने कहा कि मुझे बलपूर्वक रोका गया, महिला पुलिस अधिकारी ने मेरा गला पकड़कर खींचा और धकेला दिया, इससे मैं गिर गई। उसके बाद मैं कार्यकर्ता की स्कूटी पर बैठकर वहां से निकली तो स्कूटी का घेराव कर लिया। जब पैदल चलने लगी तो रास्ते में महिला पुलिस अधिकारी ने रोक लिया। लेकिन मैं पैदल चलकर एसआर दारापुरी के घर पहुंची।
कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज कांग्रेस स्थापना दिवस पर लखनऊ में थी। इस अवसर पर उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं और वरिष्ठ नेताओं को सम्बोधित किया। इसके बाद रणनीतिक और कार्ययोजना कमेटी की बैठक के बाद प्रियंका गांधी अचानक रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी से मिलने निकल गयीं। जिस पर 1090 चौराहे के पास उनके काफिले को पुलिस ने रोक लिया। मगर थोड़ी नोक-झोंक के बाद प्रियंका पैदल ही निकल गयीं।
इस अफरातफरी में प्रियंका किसी गली में घुस गयीं जहां पुलिस भी उन्हें ढूंढती रही। शुरुआत में लोगों के बीच ये गलतफहमी हुुई कि प्रियंका गांधी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है मगर जैसे ही पता चला कि वो पुलिस को चकमा देकर कहीं निकल गई हैं। तो मीडिया से लेकर पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया। आपको बता दें कि एसआर दारापुरी के ऊपर लखनऊ में हुए दंगे की साजिश रचने का आरोप है।
इससे नाराज कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने आज आज भाजपा और उत्तर प्रदेश पुलिस पर हमला बोलते हुए कहाकि मुझे सड़क पर रोकने का पुलिस को कोई हक नहीं है। पुलिस ने मुझे जबरन रोका है। प्रियंका गांधी ने कहाकि भाजपा सरकार कायरों वाली हरकत कर रही है। मैं यूपी की प्रभारी हूं कहां जाउंगी। और फिर भाजपा सरकार यह तय नहीं करेगी की मैं कहां जाउंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button