पॉलिटिक्स

टाटा, अंबानी महिंद्रा समते 11 उद्योगपतियों से PM मोदी ने की मुलाकात; कहा, तारीफ नहीं कमियां बताएं

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को देश के प्रमुख उद्योगपतियों और सीईओ से मुलाकात की। जिसमें रतन टाटा, मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी समेत 11 दिग्गज शामिल थे। इस दौरान आर्थिक विकास दर और रोजगार के मौके बढ़ाने के उपायों पर चर्चा हुई। बैठक में मोदी ने कहा कि सरकार की तारीफ करने के बजाय अर्थव्यवस्था की कमियां दूर करने के लिए राय दें। इस बैठक का यही मकसद है। बैठक में शामिल 8 प्रमुख उद्योगपतियों की कंपनियों की नेटवर्थ 6 जनवरी को करीब 27 लाख करोड़ रुपए थी।
बैठक में ये दिग्गज हुए शामिल
प्रधानमंत्री द्वारा बुलाए गए बैठक में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी, अदाणी ग्रुप के प्रमुख गौतम अदाणी, भारती एयरटेल से सुनील भारती मित्तल, जेएसडब्ल्यू ग्रुप के सज्जन जिंदल, वेदांता के अनिल अग्रवाल, भारत फोर्ज के बाबा कल्याणी, महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा, टीवीएस ग्रुप के वेणु श्रीनिवासन, टाटा ग्रुप के रतन टाटा, टाटा सन्स से एन चंद्रशेखरन और
लार्सन एंड टूब्रो के अनिल नायक बैठक में मौजूद रहे। इन सभी उद्योगपतियों से पीएम मोदी ने आर्थिक मोर्चे पर रायशुमारी की।
तिमाही जीडीपी ग्रोथ में गिरावट
जुलाई-सितंबर तिमाही में देश की जीडीपी ग्रोथ घटकर 4.5% रह गई। आरबीआई और रेटिंग एजेंसियों ने अक्टूबर-दिसंबर तिमाही और पूरे साल की ग्रोथ का अनुमान भी घटा दिया है। दूसरी ओर इंडस्ट्री के कुछ लोगों ने कहा था कि ग्रोथ बढ़ाने के लिए सरकार को इंडस्ट्री से राय लेनी चाहिए।
इकोनॉमी की जमीनी हकीकत जानने के लिए बैठक
मोदी ने पिछले दिनों भी इंडस्ट्री के लोगों के साथ मीटिंग की थी। पिछली बैठक में कोटक महिंद्रा बैंक के सीईओ उदय कोटक, टीसीएस के सीईओ राजेश गोपीनाथन, एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार और एचडीएफसी बैंक के एमडी आदित्य पुरी भी शामिल थे। मोदी अर्थव्यवस्था की जमीनी हकीकत जानने के लिए ये बैठकें कर रहे हैं। गौरतलब है कि देश आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है। जिससे उबारने के लिए सरकार तमाम कोशिशें कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button