दिल्ली में धुंध के चलते पायलट ने खड़े किए हाथ तो ‘यात्री’ ने उड़ाया विमान

0
8

पुणे से दिल्ली आ रहे इंडिगो एयरलाइंस के एक विमान का स्टेयरिंग पायलट के बजाय एक यात्री ने संभालकर उसे इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सकुशल उतारा। जी नहीं, पायलट के साथ किसी तरह का हादसा नहीं हुआ था, बल्कि शनिवार को हुई इस घटना के पीछे दिल्ली एयरपोर्ट पर घनी धुंध के कारण बन गई कम दृश्यता की परिस्थितियां जिम्मेदार थीं। विमान संभाल रहे पायलट को इन परिस्थितियों का पर्याप्त अनुभव नहीं होने के कारण एयरलाइंस ने जिस यात्री से विमान संभालने का आग्रह किया था, वह भी एक पायलट हैं और इस तरह की परिस्थितियों में विमान उड़ाने के लिए प्रशिक्षित होने के साथ ही पर्याप्त अनुभवी भी थे।


सूत्रों के मुताबिक, इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या 6ई-6571 ने शनिवार की सुबह पुणे से दिल्ली के लिए उड़ान भरनी थी। यात्रियों के पुणे एयरपोर्ट पर विमान में बैठने के दौरान ही दिल्ली एयरपोर्ट पर सीजन का पहला कोहरा फैलने की सूचना एयरलाइंस प्रबंधन को मिली। बताया गया कि दिल्ली एयरपोर्ट पर विमान उड़ाने के लिए बेहद कम दृश्यता की स्थिति है और इन परिस्थितियों में कैट-3बी का प्रशिक्षण ले चुके पायलट को ही विमान उड़ाना चाहिए। लेकिन फ्लाइट के एक पायलट के पास यह प्रशिक्षण नहीं था.


एयरलाइंस सूत्रों के मुताबिक, यात्री पायलट को सीधे कॉकपिट में प्रवेश नहीं दिया गया बल्कि उन्हें पहले ब्रीथ एनेलाइजर समेत उन सभी अनिवार्य टेस्ट से गुजरना पड़ा, जो विमान उड़ाने से पहले पायलट को देने पड़ते हैं। इसके अलावा विमान का कैप्टन बदलने के लिए सभी तरह की आंतरिक मंजूरियां भी ली गईं और उनका नाम रोस्टर में भी शामिल कराया गया। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) को भी हालात की जानकारी दी गई। हालांकि यात्री कैप्टन को बिना यूनिफार्म के ही कॉकपिट में प्रवेश करना पड़ा। माना जा रहा है कि इसके लिए डीजीसीए एयरलाइंस पर जुर्माना लगा सकता है।
देरी से उड़ा विमान

7.30 बजे सुबह उड़ना था पुणे से विमान
9.10 बजे सुबह उड़ सकी यह फ्लाइट
01 घंटा 40 मिनट देरी से पहुंची दिल्ली