स्पोर्ट्स

11 साल में पुरुष सिंगल्स में सिर्फ 6 चैम्पियन बने, महिला वर्ग में 20 अलग-अलग खिलाड़ियों ने टाइटल जीते

रविवार को भारतीय समयानुसार शाम 6 बजे, नोवाक जोकोविच बड़ी सी सिल्वर ट्रॉफी लेकर फैंस का शुक्रिया अदा कर रहे थे। उन्होंने 8वीं बार ऑस्ट्रेलियन ओपन जीता था। दूसरी ओर, ऑस्ट्रिया के थिएम बाएं हाथ में रनरअप ट्रॉफी लेकर कोर्ट से बाहर निकल रहे थे, दूसरे हाथ में था रैकेट, जूते और पसीने से भीगे कपड़ों भरा उनका बैग। ऐसा ही दृश्य पिछले 16-17 साल में आमतौर पर दिखता है- क्योंकि इन सालों में अधिकतर ग्रैंड स्लैम में बिग-3 का कोई सदस्य कोर्ट पर ट्रॉफी लिए रहता है। बिग-3 यानी रोजर फेडरर, राफेल नडाल और नाेवाक जोकोविच। यही तीनों खिलाड़ी पिछले डेढ़ दशक से टेनिस कोर्ट पर छाए हुए हैं। इनका दबदबा तोड़ने वाला खिलाड़ी फिलहाल नजर नहीं आ रहा।

पिछले 15 में से 14 ऑस्ट्रेलियन ओपन बिग-3 ने जीते। वहीं, महिला कैटेगरी में ऐसा बिल्कुल नहीं है। पिछले 5 ग्रैंड स्लैम में दुनिया को 5 नई चैम्पियन मिली हैं। अगर, 2010 से अब तक के टेनिस ग्रैंड स्लैम के रिकॉर्ड को देखा जाए तो इन 11 सालों में पुरुष सिंगल्स में सिर्फ 6 खिलाड़ी ही चैम्पियन बने। वहीं, महिला कैटेगरी में 20 खिलाड़ियों ने टाइटल जीते। इस दौरान 41 ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट खेले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button