राष्ट्रीय समाचार

राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट के गठन पर चुनाव आयोग ने कहा, हमारी अनुमति जरूरी नहीं

चुनाव आयोग ने स्पष्ट किया है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के वास्ते ट्रस्ट के गठन के लिए चुनाव आचार संहिता लागू होने के कारण आयोग की पूर्वानुमति लेना अनिवार्य नहीं है। आयोग के प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि इसके लिए आयोग की पूर्व मंजूरी लेना जरूरी नहीं है।

उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने उच्चतम न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ के गठन के प्रस्ताव को आज मंजूरी दे दी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस आशय के फैसले की लोकसभा में जानकारी दी। पीएम मोदी ने सदन को बताया कि मंत्रिमंडल की बैठक में ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ के गठन का प्रस्ताव पारित किया गया । 

यह ट्रस्ट अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय लेने के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा। दिल्ली में आगामी आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू होने के मद्देनजर चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने स्पष्ट किया कि सरकार ने शीर्ष न्यायालय के फैसले में निर्धारित समयसीमा का पालन करते हुए ट्रस्ट का गठन किया है। 

इसके लिए आयोग की मंजूरी लेना अनिवार्य नहीं है। न्यायालय के आदेश के मुताबिक, सरकार को नौ फरवरी तक ट्रस्ट का गठन करना है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए आठ फरवरी को मतदान और 11 फरवरी को मतगणना होगी। इसके मद्देनजर दिल्ली में छह जनवरी से चुनाव आचार संहिता लागू है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button