पॉलिटिक्स

अब चौटाला पिता-पुत्र होंगे आमने-सामने

चंडीगढ़. हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला और जननायक जनता पार्टी के संरक्षक अजय सिंह चौटाला फरलो पर बाहर आने के साथ ही फील्ड में सक्रिय हो गए। इनेलो सुप्रीमो चौटाला जहां हर जिले में कार्यकर्ताओं से रूबरू होकर संगठन को मजबूती के साथ खड़ा करने की कोशिश में हैैं, वहीं जजपा संरक्षक अजय कार्यकर्ताओं में नए जोश का संचार करते हुए पार्टी के विधायकों से रूबरू होंगे।
14-14 दिन की मिली है फरलो
जेबीटी भर्ती घोटाले में जेल में बंद ओमप्रकाश और डा. अजय को 14-14 दिन की फरलो मिली है। विधानसभा चुनाव के बाद ओमप्रकाश के यह पहले जिला स्तरीय दौरे होंगे, जबकि अजय भाजपा सरकार में साझीदार होने के बाद अपनी पार्टी के विधायकों का असंतोष खत्म करने बाहर आए हैैं।
ओमप्रकाश के 31 दिसंबर से कार्यक्रम
ओमप्रकाश 31 दिसंबर को सोनीपत जिला कार्यालय में पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। इसके बाद पानीपत, करनाल और कुरुक्षेत्र होते हुए चौटाला अपने पूर्व राजनीतिक सलाहकार शेर सिंह बड़शामी के आवास पहुंचेंगे। उनका रात्रि विश्राम यमुनानगर में होगा। नए साल पर एक जनवरी को चौटाला यमुनानगर में जिला कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। अंबाला और पंचकूला के कार्यकर्ताओं से उनकी मीटिंग होगी। चौटाला दो जनवरी को चंडीगढ़ स्थित अभय के निवास पर रहेंगे। इनेलो ने अभी ओमप्रकाश के इन्हीं जिलों के कार्यक्रम जारी किए हैैं। बाद में बाकी जिलों के कार्यक्रम भी घोषित किए जाएंगे।
अजय शांत करेंगे बगावत का माहौल
उधर, अजय की कोशिश रहेगी कि फरलो के दौरान जजपा विधायकों के असंतोष खासकर नारनौंद के विधायक रामकुमार गौतम की बगावत से उपजे माहौल को शांत किया जाए। अजय जहां रामकुमार गौतम से मुलाकात कर सकते हैैं, वहीं बाकी जजपा विधायकों को भी यह भरोसा दिलाया जा सकता है कि उनके मान सम्मान में किसी तरह की कोई कमी नहीं रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button