latest

Chandrayaan-2 को लेकर नासा का बड़ा बयान, अंतरिक्ष मिशनों की असफलता से निराश नहीं हों

[: अंतरिक्ष मिशन असफल होते हैं और वैज्ञानिक समुदाय को इससे हतोत्साहित नहीं होना चाहिए। यह ठीक है कि विक्रम लैंडर चंद्रमा की सतह पर नहीं उतर सका, लेकिन इसके लिए फिर से प्रयास करना चाहिए, क्योंकि यह एक पेशागत कार्य है। यह बात नासा जेपीएल (जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी) में नवाचार और प्रौद्योगिकी अधिकारी टॉम सोडरस्ट्राम ने कही।
उन्होंने कहा कि चंद्रमा की सतह पर विक्रम लैंडर का मलबा मौजूद है और इसमें कई विसंगतियां मौजूद हैं। अब देखना यह है कि इसका पता नासा और इसरो में से कौन पहले लगाता है। चंद्रयान-2 मिशन की सबसे बड़ी सीख यह है कि इस तरह के मिशन विफल होने के लिए ही होते हैं और नासा से बेहतर इसे कोई और नहीं जानता है। रोवर को सतह पर उतारना बहुत मुश्किल काम है।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button