चुनाव

झारखंड चुनाव : हेमंत सोरेन को घेरने के लिए खुद प्रधानमंत्री मोदी उतरे मैदान में

संथाल परगना के प्रशासनिक मुख्यालय दुमका से करीब सौ किलोमीटर दूर इस छोटे से कस्बे में झारखंड मुक्ति मोर्चे के कार्यकारी अध्यक्ष और चुनाव में यूपीए(झामुमो कांग्रेस राजद) का चेहरा हेमंत सोरेन डेरा डाले हुए हैं। आदिवासियों के बीच दिशोम गुरु की उपाधि से नवाजे गए शिबू सोरेन के वारिस हेमंत इस समय दोहरी चुनौती से जूझ रहे हैं। 

एक तरफ उनके सामने झामुमो के गढ़ माने जाने वाले आदिवासी बहुल संथाल परगना की सभी 16 सीटों पर यूपीए को जिताने की चुनौती है तो दूसरी तरफ दुमका और बरहेट दोनों विधानसभा सीटों पर खुद चुनाव जीतने की भी चुनौती है। जबकि हेमंत सोरेन को घेरने के लिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मैदान में उतर आए हैं। मोदी ने पहले दुमका में और फिर मंगलवार को बरहेट में चुनावी सभा करके झामुमो कांग्रेस और हेमंत पर निशाना साधा।

झारखंड विधानसभा चुनाव के चार चरणों का मतदान हो जाने के बाद अब भाजपा, झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन, जेवीएम और आजसू समेत सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत संथाल परगना की शेष 14 सीटों ( कुल 16 सीटों में से दो सीटों पर मतदान हो चुका है) पर झोंक दी है। मुख्यमंत्री रघुबरदास भी दुमका में डेरा डाले हुए हैं और अपनी सरकार की वापसी का दावा कर रहे हैं। 

जबकि भाजपा के बागी नेता सरयू राय भी दुमका आकर झामुमों के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं। सरयू राय ने दुमका के शहरी मतदाताओं से इस बार हेमंत सोरेन को जिताने की अपील करते हुए कहा कि अगर संथाल परगना को अगली सरकार में अपना मुख्यमंत्री चाहिए तो हेमंत सोरेन को जिताएं। वहीं दुमका और बरहेट दोनों ही जनसभाओं में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुच्छेद 370, राममंदिर और नागरिकता कानून समेत एक तरफ केंद्र सरकार की तमाम उपलब्धियां गिनाईं तो दूसरी तरफ राज्य सरकार द्वारा पिछले पांच सालों में किए गए विकास कार्यों का हवाला देते हुए एक बार फिर भाजपा को जिताने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button