latest

Iron Industry को केंद्रीय बजट से हैं बहुत उम्मीदें, कमजोर नीतियों के कारण घुट रहा दम

फतेहगढ़ साहिब, जागरण ब्यूरो। फतेहगढ़ साहिब एक दशक पहले आर्थिक मंदी के कारण एशिया की जानी-मानी लोहा नगरी मंडी गोबिंदगढ़ की औद्योगिक इकाइयों की चिमनियों से धुआं निकलना बंद हो गया था। ताले लटक गए थे। धीरे-धीरे सरकारों ने आर्थिक मंदी तो दूर कर दी, लेकिन कमजोर नीतियों के कारण आज भी लोहा इंडस्ट्री का दम घुट रहा है। इन हालातों में इंडस्ट्री को मजबूती देने के लिए कारोबारियों की आम बजट से ढेर सारी उम्मीदें रहती हैं। कुछ वर्षों से आम बजट में इन उद्योगों की अनदेखी की गई है।

सात वर्ष पहले मंडी गोबिंदगढ़ में करीब 375 रोलिंग मिलें थीं। उनकी संख्या अब 225 रह गई है। यहां 100 के करीब फर्नेस इकाइयां हैं, जो किसी समय मात्र चालीस रह गई थीं। अब इस नगरी को आर्थिक मंदी की नहीं, बल्कि गलत नीतियों के कारण उजड़ रही इंडस्ट्री की चिंता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button