latest

Indian Railways: रैकेट का मास्टर माइंड अशरफ ने एेसे सीखी ई-टिकटिंग में सेंधमारी की तकनीक

जब रेलवे ई-टिकटिंग रैकेट का भंडाफोड़ हुआ तो उसमे बार बार ‘गुरुजी’ का नाम आया था। अब अंदाजा लगाया जा रहा है कि वह गुरुजी कोई और नहीं बल्कि सरगना हामिद अशरफ को फंडा सिखाने वाला आइआरसीटीसी व सीबीआइ का पूर्व प्रोग्रामर अजय गर्ग था। अजय गर्ग 2007 से 2011 के बीच आइआरसीटीसी में काम करता था और उसके बाद उसने सीबीआइ में असिस्टेंट प्रोग्रामर की नौकरी ज्वाइन कर ली थी। उसके बारे में जानकारी खुद अशरफ ने सीबीआइ को दी थी।

जिसके बाद सीबीआइ ने 2017 में उसे उसके सहयोगी अनिल गुप्ता के साथ गिरफ्तार किया था। बाद में सीबीआइ ने क्रिस के मुख्यालय ले जाकर इन तीनो की पेशी अधिकारियों के समक्ष कराई थी। वहां तीनो ने सबके सामने आइआरसीटीसी की वेबसाइट में अनधिकृत घुसपैठ कर कैप्चा और ओटीपी को बाइपास कर फटाफट टिकट बुकिंग करने वाले एएनएमएस सॉफ्टवयर का हुनर दिखाया था। इसी के बाद से क्रिस पर बंदी की तलवार लटक रही है।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button