पॉलिटिक्स

यहां तीन निर्दलीय पार्षदों ने दिया भाजपा को बड़ा झटका, कृषि मंत्री की मौजूदगी में किया कांग्रेस प्रवेश

बेमेतरा/साजा. साजा नगर पंचायत में कांग्रेस को 3 निर्दलीय पार्षदों ने अपना समर्थन दे दिया है। साजा में कुल 15 सीट है। बहुमत के लिए 8 पार्षदों का साथ कांग्रेस को चाहिए था। 24 घंटे के दौरान बदलते समीकरण के बाद सभी 3 निर्दलीय पार्षदों ने कांगे्रस प्रवेश कर लिया है। पूर्व में कांग्रेस के पास 6 सीटें थीं। जादुई अंक 8 सीट पहुंचने के लिए 2 निर्दलीय पार्षदों का समर्थन चाहिए था। शनिवार को निर्दलीय पार्षद ज्योति किशोर राठी ने कांगे्रस में प्रवेश कर लिया। रविवार सुबह 10 बजे के करीब एक अन्य निर्दलीय पार्षद संतोष यादव बाजीगर ने कांग्रेस प्रवेश किया। इसके बाद शाम 5 बजे एक अन्य निर्दलीय पार्षद राकेश ठाकुर ने भी कांग्रेस का दामन थाम लिया। इस बदले समीकरण के बाद प्रतिष्ठा का विषय बन चुके साजा नगर पंचायत में कांग्रेस का पक्ष मजबूत हो गया।
तीन निर्दलीयों ने किया कांग्रेस प्रवेश
साजा में चुनाव कांग्रेस और भाजपा को बराबर 6-6 सीटें मिली थीं। 3 निर्दलीय पार्षद चुन गए थे। नगर पंचायत में अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर सियासी गतिविधियां लगातार तेज हो गई थीं। कांग्रेस, भाजपा लगातार निर्दलीय पार्षद से सम्पर्क कर अपनी नगर सत्ता बनाने की कवायद जुटी थीं। अब निर्दलीयों से समर्थन की स्थिति साफ हो गई है। वार्ड बाबा रामदेव 8 में दिग्गजों को हराने वाली निर्दलीय ज्योति किशोर राठी ने 28 दिसम्बर को ग्राम मोहतरा में आयोजित गुरु घासीदास जयंती पर कृषिमंत्री रविन्द्र चौबे के समक्ष कांग्रेस का दामन थाम लिया। ग्राम मोहतरा के मंच पर कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने स्वयं ज्योति राठी के कांग्रेस प्रवेश की घोषणा की। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संतोष वर्मा ने ज्योति किशोर राठी को कांग्रेसी गमछा व पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया।
मंत्री के बंगले पहुंच कर किया समर्थन
नगर पंचायत वार्ड 13 के निर्दलीय पार्षद संतोष (बाजीगर) यादव रविवार को कृषि मंत्री रवींद्र चौबे के बंगले में पहुंचकर कांग्रेस प्रवेश किया। पूर्व पार्षद डेनिस यादव भी मौजूद रहे। बाद में एक अन्य पार्षद राजेश ठाकुर ने भी समर्थन कर दिया।
कांग्रेस बहुमत के लिए थी आशन्वित
साजा में चुनाव के बाद बने समीकरण में 3 निर्दलियों में से एक निर्दलीय ज्योति राठी की राजनितिक पृष्ठभूमि गैर राजनीतिक रही है। वहीं अन्य निर्दलीय राजेश ठाकुर एवं संतोष यादव ने कांग्रेस से बगावत कर चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की। दोनों दल को बहुमत के लिए 2 सीट की दरकार थी, जिसके लिए प्रयास किए जा रहे थे। साजा में कांग्रेस बहुमत के लिए आशांवित थी।
थी निर्दलीय के समर्थन की जरूरत
थानखम्हरिया नगर पंचायत के 15 सीट में से बहुमत के लिए 8 सीट की जरूरत है। यहां पर बीजेपी के पास 7 सीट है, जिन्हें एक निर्दलीय के समर्थन की जरूरत है। इस स्थिति में भाजपा से बगावत कर चुनाव लडऩे वाले महेश निषाद से उम्मीद बनते नजर आ रही है। आज की स्थिति में 8 पार्षद अज्ञातवास पर हैं, जिसमें 7 भाजपा से हैं। वहीं कांग्रेस को दो सीट की दरकार है। जिसे देखते हुए दोनों पार्षदों का समर्थन जरूरी है। अज्ञातवास से वापस आने के बाद निर्दलीय का रुख बदलने का दावा किया जा रहा है। वहीं कांग्रेस से हटकर चुनाव लडऩे वाले पार्षद का भी समर्थन कांग्रेस को मिलने के आसार जताए जा रहे हैं। नए समीकरण सामने आने के बाद कांग्रेस अधिक आशावान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button