latest

Direct Tax कलेक्शन में दो दशकों में पहली बार गिरावट की संभावना

[: नई दिल्ली, रायटर। आर्थिक विकास में तेज गिरावट और कॉर्पोरेट कर दरों में कटौती के बीच मौजूदा वर्ष के लिए भारत के कॉर्पोरेट और आयकर संग्रह में कम से कम दो दशकों में पहली बार गिरावट की संभावना है, आधा दर्जन से अधिक वरिष्ठ कर अधिकारियों ने रायटर को यह जानकारी दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार 31 मार्च को समाप्त वर्ष के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रह के लिए 13.5 ट्रिलियन रुपये (189 अरब डॉलर) का लक्ष्य रख रही थी, यह पूर्व वित्त वर्ष की तुलना में 17 फीसद ज्यादा है।

हालांकि, मांग में तेज गिरावट से व्यवसाय ठप हैं, इस वजह से कंपनियों को निवेश और नौकरियों में कटौती करना पड़ा है, साथ ही कर संग्रह में सेंध लगने से सरकार को इस वित्तीय वर्ष में 5 फीसद वृद्धि दर का अनुमान जाहिर करना पड़ा है जो, 11 वर्षों में सबसे कम है।

पिछले तीन वर्षों के आंकड़ों से पता चलता है कि पहले तीन तिमाहियों के लिए अग्रिम रूप से कंपनियों से करों का संग्रह करने के बाद अधिकारी आम तौर पर अंतिम तीन महीनों में वार्षिक प्रत्यक्ष करों के लगभग 30-35 फीसद की वृद्धि करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button