पॉलिटिक्स

Delhi Assembly Election 2020: एके वालिया की हां से बदला कृष्णा नगर का गणित

नई दिल्ली [सुधीर कुमार]। पूर्वी दिल्ली की महत्वपूर्ण सीटों में से एक कृष्णा नगर विधानसभा सीट में इस बार मुकाबला रोमांचक होने जा रहा है। इस बार कांग्रेस के दिग्गज नेता और दिल्ली में कांग्रेस काल में लगातार दूसरे नंबर के मंत्री रहे डॉ. एके वालिया के चुनाव लड़ने की प्रबल संभावना बन गई है। प्रदेश नेतृत्व भी उन्हें लड़ाने के पक्ष में है और उन्होंने भी हां कर दी है। हालांकि तीन-चार दिन पहले तक यह चर्चा चल रही थी कि डॉ.वालिया इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे, जिससे कई ने दावा ठोंका था, लेकिन संभावित बाहरी उम्मीदवार का विरोध शुरू हो गया था।
लक्ष्मीनगर विधानसभा क्षेत्र से लगातार दो बार चुनाव हारने के कुछ ही दिनों बाद डॉ.वालिया ने कृष्णा नगर सीट से चुनाव लड़ने का मन मना लिया था, क्योंकि परिसीमन से पहले कृष्णा नगर विधानसभा क्षेत्र का आधा हिस्सा गीता कॉलोनी विधानसभा क्षेत्र में पड़ता था और यहां से डॉ.वालिया लगातार तीन चुनाव जीते थे। यहां उनका वोट बैंक भी है। पंजाबियों की संख्या भी काफी है। इसी वजह से वह पुराने क्षेत्र में लौटने के लिए तैयार हो गए थे, लेकिन कुछ दिन पहले पहले डॉ. वालिया ने चुनाव लड़ने से मना कर दिया था।
कई नेता भी मांग रहे यहां से टिकट
इससे कई कांग्रेस नेताओं ने यहां से दावेदारी ठोंक दी थी, जिसमें कृष्णा नगर जिला कांग्रेस अध्यक्ष गुरचरण सिंह राजू, पार्षद का चुनाव लड़ चुकीं प्रवीणा शर्मा और कृष्णा नगर मंडल अध्यक्ष जुगल अरोड़ा प्रमुख थे। प्रवीणा शर्मा और जुगल अरोड़ा इसी विधानसभा क्षेत्र में रहते हैं। सभी ने टिकट के लिए कोशिशें तेज कर दीं, लेकिन अब दो दिनों में समीकरण बदल गए हैं। प्रदेश के कुछ नेताओं ने डॉ. वालिया से कहा कि इस वक्त कांग्रेस की मजबूती के लिए जरूरी है कि मजबूत नेता चुनाव लड़ें, जिससे वालिया ने भी हां कर दी। हालांकि अभी पार्टी ने टिकट की घोषणा नहीं की है, लेकिन प्रदेश सूत्रों का भी कहना है कि डॉ. वालिया कृष्णा नगर से चुनाव लड़ेंगे।
लगातार 4 बार जीत दर्ज कर चुके हैं वालिया
दिल्ली के पूर्व मंत्री डॉ. वालिया ने लगातार चार विधानसभ चुनाव में जीत दर्ज की है और लगातार दो बार चुनाव हारे हैं। परिसीमन से पूर्व उन्होंने गीता कॉलोनी सीट से लगातार तीन बार जीत दर्ज की थी और परिसीमन के बाद लक्ष्मीनगर विधानसभा सीट से एक बार जीत दर्ज की। वहीं लक्ष्मीनगर से ही वह लगातार दो बार हारे हैं। इसी वजह से उन्होंने पुरानी सीट से लड़ने का फैसला किया है। इसके संकेत बुधवार को विधानसभा क्षेत्र में गोविंद बैंक्वेट हॉल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का सम्मेलन भी हुआ है, जिसमें डॉ. वालिया पहुंचे और उन्होंने सभी से एकजुट होने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button