latest

Delhi Assembly Election 2020: चुनाव लड़ने के लिए संभावित उम्मीदवार बनवा रहे बायोडाटा

[: Delhi Assembly Election 2020: राजनीति भी क्या क्या न कराए! हाथ छाप पार्टी में ऐसे ढेरों नेता-कार्यकर्ता हैं जिन्होंने जिंदगी में कभी अपना बायोडाटा नहीं बनवाया। नौकरी करनी नहीं थी, संभालना पुरखों का व्यवसाय ही था। बस पार्टी का झंडा उठाए और पार्टी के पदाधिकारी बनने की होड़ में लग गए। दिन-रात पार्टी के दफ्तर में गुजारने लगे और नेताजी के करीबी कहलाने लगे। कुछ तो इतना पढ़ लिख ही नहीं पाए कि बायोडाटा बनवाने की नौबत आए। लेकिन अब माहैल बदल चुका है। सिर्फ झंडाबरदार होने से काम नहीं चलेगा। अब बताना होगा कि नेताजी को क्षेत्र के लोग कितना पसंद करते हैं और उनका विजन क्या है। चुनाव लड़ने के इच्छुक ऐसे नेता-कार्यकर्ता आजकल साइबर कैफे में बैठकर अपना बायोडाटा तैयार कराते नजर आ रहे हैं। चूंकि तजुर्बा नहीं है तो बायोडाटा में भी क्या जुड़वाएं, क्या नहीं, इसे लेकर कभी किसी से सलाह लेते हैं और कभी से। मजबूरी इसी का नाम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button