आम मुद्दे

कोरोनावायरस: जांच के दायरे में देश के 21 हवाईअड्डे, केंद्र ने जारी किया यात्रा परामर्श

चीन के वुहान शहर में फैले कोरोनावायरस का प्रभाव अब धीरे-धीरे पूरी दुनिया में देखा जा सकता है। हर देश इस वायरस से निपटने के लिए अपने हवाई अड्डो से लेकर अस्पतालों में कई तरह के प्रबंधन और जांच के लिए व्यवस्थाएं कर रहे हैं, ताकि इससे बचा जा सके।

वहीं, कोरोनावायरस को देखते हुए भारत सरकार ने भी अपनी कमर कस ली है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चीन में कोरोनावायरस के संक्रमण के मद्देनजर भारत आने वाले यात्रियों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए देश के 21 हवाईअड्डों पर ‘थर्मल जांच’ शुरु कर दी है। इस बीच मंत्रालय ने भारतीय नागरिकों को अनावश्यक रूप से चीन की यात्रा करने से बचने का परामर्श भी जारी किया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय में विशेष सचिव संजीव कुमार ने आज ही सभी राज्यों के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिए एक बैठक की। इसमें उन्होंने कोरोनावायरस से बचाव और हालात को नियंत्रण में रखने के लिए किए गए उपायों की समीक्षा की।

मंत्रालय ने गुरुवार को 21 हवाईअड्डों की सूची जारी करते हुए बताया कि चीन से सीधी विमान सेवा वाले भारतीय हवाईअड्डों के अलावा उन हवाईअड्डों को भी थर्मल जांच के दायरे में लाया गया है जो चीन से कनेक्टिंग उड़ान सेवा से जुड़े हैं। इनमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई के अलावा हैदराबाद, कोचीन, बंगलूरू, अहमदाबाद, अमृतसर, कोयंबटूर, गुवाहाटी, गया, बागडोगरा, जयपुर, लखनऊ, तिरुवनंतपुरम, तिरुचि, वाराणसी, विजाग, भुवनेश्वर और गोवा शामिल हैं।

मंत्रालय ने एक परामर्श भी जारी किया है। इसमें कोरोनावायरस के चीन में संक्रमण से उपजे खतरे को देखते हुए देशवासियों को परामर्श दिया गया है कि चीन की गैरजरूरी यात्रा करने से बचा जाए। मंत्रालय ने कहा कि चीन से आने वाले प्रत्येक यात्री के स्वास्थ्य पर निगरानी रखी जा रही है।

उल्लेखनीय है कि भारत में अब तक कोरोनावायरस के संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है। चीन से भारत आने वाले 33 हजार से अधिक यात्रियों की विभिन्न हवाईअड्डों पर जांच की जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button