latest

Coronavirus : बंगलूरू में 6 और हैदराबाद में 4 लोग निगरानी में रखे गए, बिहार में एक लड़की चपेट में

[चीन से शुरू हुए कोरोनावायरस की वजह से दुनियाभर में खौफ का माहौल है। चीन में अभी तक इसके कारण 80 लोगों की जान जा चुकी है। सभी देश दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों की जांच कर रहे हैं। इसके साथ ही कैबिनेट सचिव ने सोमवार को चीन में कोरोनोवायरस के प्रकोप से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा के लिए एक बैठक की। इस बैठक में स्वास्थ्य, विदेश, नागरिक उड्डयन, श्रम, रक्षा, सूचना प्रसारण और सदस्य सचिव, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, महानिदेशक (सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा) के सचिवों ने भाग लिया।

कैबिनेट सचिव को बताया गया कि रविवार तक 137 उड़ानों की जांच की गई (कुल यात्री 29,707) और 12 यात्रियों के नमूने पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी को भेजे गए हैं। अभी तक कोई पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया है।
हवाई अड्डों पर यात्रियों की हो रही जांच

भारत में भी हवाई अड्डों पर यात्रियों की जांच की जा रही है। द एयरपोर्ट हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (एपीएचओ) बंगलूरू ने सोमवार को कहा कि चीनी शहर वुहान का दौरा कर लौटने वाला यात्रियों में से बंगलूरू को कोई भी यात्री इस वायरस से संक्रमित नहीं पाया गया है।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ने 21 जनवरी से अबतक 2,572 यात्रियों की जांच की है, इनमें से कोई भी यात्री पॉजिटिव नहीं पाया गया है। प्राधिकरण ने कहा कि एक यात्री जिसे तीन दिन पहले चिकित्सा पर्यवेक्षण के लिए भर्ती कराया गया था, परीक्षण रिपोर्ट निगेवटिव आई है। एपीएचओ)ने यह भी बताया कि दो यात्री जो 18 जनवरी को चीन से भारत लौटे थे, उन्हें रविवार रात अस्पताल में चिकित्सा देखरेख में रखा गया है और जल्द ही उनका नमूना जांच के लिए पुणे भेजा जाएगा।

एपीएचओ जारी प्रेस नोट में कहा कि छह यात्री जिनमें चार चीनी और दो भारतीय हैं, उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। उन्हें 28 दिनों तक अंडर ऑब्जर्वेशन रखा गया है।
 

गुजरात के सीएम ने विदेश मंत्री से की बात

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कोरोनावायरस को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात की और चीन में 100 गुजराती छात्रों के चिकित्सा और सुरक्षा को लेकर उठाए गए कदम पर चर्चा की। रूपानी ने केंद्र सरकार से आवश्यक कदम उठाने का अनुरोध किया है। 
 

बिहार में एक लड़की कोरोनावायरस की चपेट में

बिहार के छपरा में एक लड़की के कोरोनावायरस की चपेट में होने की आशंका के चलते सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां से सोमवार को उसे पीएमसीएच लाया गया। लड़की चीन से पढ़ाई करके लौटी है। 

पीएमसीएच के सुपरिटेंडेंट विमल करक ने बताया कि हाल में चीन से लौटी एक लड़की को कोरोनावायरस के मिले-जुले लक्षण पाए जाने पर छपरा के एक अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया। अभी उसे पीएमसीएच लाया गया है। उन्होंने कहा कि लड़की के खून का नमूना जांच के लिए पुणे भेजा जाएगा और उसके बाद रिपोर्ट के अनुसार उसका इलाज शुरू होगा। हम इस तरह के संदिग्ध मामलों के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

स्वास्थ्य विभाग के मुख्य सचिव ने कहा कि हमने लड़की के खून का नमूना जांच के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में भेज दिया है, ताकि पता लगाया जा सके कि क्या वह वायरस से संक्रमित है। मुझे उम्मीद है कि रिपोर्ट 28 जनवरी तक आ जाएगी।

नेपाल के साथ लगते इलाकों पर पैनी नजर

बिहार स्वास्थ्य विभाग के मुख्य सचिव संजय कुमार ने कहा कि चूंकि हमारी सीमा नेपाल के साथ बहुत अधिक खुला हुआ है, जहां इस वायरस का एक पॉजिटिव मामला पाया गया है। इसलिए हमने नेपाल के साथ लगते प्रमुख प्रवेश क्षेत्र रक्सौल, विराट नगर और जोगबनी में आइसोलेशन वार्ड और स्क्रीनिंग सुविधाएं स्थापित की हैं। 

हैदराबाद में चार लोगों को निगरानी में रखा गया

हैदराबाद में सरकारी अस्पताल में कोरोनावायरस के संक्रमण के संदेह पर चीन आने वाले चार लोगों को निगरानी में रखा गया है। डॉ. शंकर ने बताया कि हमने उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा है। बुखार, गले में दर्द या सांस लेने में समस्या जैसे कोई लक्षण नहीं पाए गए हैं।
ओडिशा कोरोनावायरस के मामलों से निपटने के लिए तैयार

ओडिशा सरकार ने सोमवार को कहा कि कोरोनावायरस मामलों से निपटने के लिए राज्य द्वारा संचालित अस्पतालों में पूरी व्यवस्था की गई है। ओडिशा के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण सचिव एनबी ढल ने कहा कि इसके अलावा राज्य के दोनों हवाई अड्डों पर भी तैयारी की गई है ताकि यात्रियों को मलयेशिया से आने वाले यात्रियों की जांच की जाए। राज्य किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि नेपाल के साथ हमारी कोई सीमा नहीं है, जहां एक मामले की पुष्टि हुई है, हमारे पास कुआलालंपुर के लिए एक सप्ताह में चार उड़ानें हैं, जहां तीन कोरोनावायरस मामलों का पता चला है। ढल ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ दिन में एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान, कोरोनावायरस स्क्रीनिंग सुविधाओं की सूची में बीजू पटनायक अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को शामिल करने की मांग की। ढल ने कहा कि पारादीप पोर्ट और रेलवे के अधिकारियों को सतर्क करने के अलावा, राज्य सरकार ने स्टार होटलों को यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा है कि चीन के यात्री कोरोनावायरस के संबंध में स्व-घोषणा दें।

स्वास्थ्य विभाग ने वायरस के बारे में लोगों को जानकारी देने के लिए टोल-फ्री नंबर – 06742390466 और 9439994857 भी जारी किए हैं। एक अधिकारी ने बताया कि विभाग ने इससे संबंधित सवालों का जवाब देने के एक नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया है।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button