इकोनामी एड फ़ाइनेंस

coronavirus. के इलाज के नाम पर आपके बैंक खाते में सेंध लगा रहे हैकर, इस तरह बरतें सतर्कता

[ Coronavirus से 700 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। कई हजार लोग इससे संक्रमित बताए जा रहे हैं। चीन के अलावा मलेशिया, फिलीपींस और अमेरिका सहित दुनिया के कई देश से इससे प्रभावित हैं। उच्च मृत्यु दर होने के कारण भारत में भी लोग इससे काफी सशंकित बताए जा रहे हैं। लोग इस रोग के लक्षण एवं इससे बचाव के उपाय के बारे में अधिक-से-अधिक जानकारी चाहते हैं। इस वायरस से जुड़ी चिंताओं के बढ़ने के कारण लोग इंटरनेट पर इस बारे में अधिक से अधिक सर्च कर रहे हैं। साथ ही सोशल मीडिया पर न्यूज आर्टिकल को साझा कर रहे हैं। हालांकि, हैकर और धोखाधड़ी करने वाले लोगों की इस घबराहट का इस्तेमाल अपने फायदे के लिए कर रहे हैं।UPI Transfer का Approval Link भेज रहे हैकर

हाल में आई तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हैकर और स्कैमर कोरोनावायरस के बारे में जागरूकता फैलाने और उपचार के नाम पर लोगों को कई तरह के फाइल और लिंक भेज रहे हैं। खबरों के मुताबिक स्कैमर इन फाइल और लिंक में UPI Transfer का अप्रुवल लिंक या हैकिंग कोड भेज रहे हैं। कोरोनावायरस को लेकर लोगों की जिज्ञासा एवं घबराहट का फायदा उठाते हुए स्कैमर्स लोगों से UPI Transfer के अप्रुवल लिंक पर क्लिक करने के लिए बाध्य करते हैं और उसके बाद पिन डालने का ऑप्शन आ जाता है। गलती से भी पिन डालने के साथ ही आप खून-पसीने से अर्जित कमाई को गंवा सकते हैं।

हैकिंग कोड के जरिए वित्तीय जानकारियों की चोरी

इन रिपोर्ट्स के मुताबिक हैकर कोरोनावायरस की जागरूकता के नाम पर भेजे जा रहे फाइल्स में हैंकिंग कोड भेज रहे हैं। इस ट्रिक के जरिए वे लोगों की वित्तीय जानकारियां जुटा रहे हैं और उनके अकाउंट से पैसे चुरा ले रहे हैं।

बचाव के लिए उठाएं ये कदम

अगर आपको किसी भी तरह का लिंक या फाइल आ रहा है तो उस पर क्लिक करने से पहले हमेशा सतर्क रहें।
फाइल या लिंक खोलने से पहले यूआरएल को ध्यान से पढ़ें।
किसी भी तरह की संदिग्ध गतिविधि की रिपोर्ट तत्काल साइबर पुलिस को करें और अपने यूपीआई को तत्काल ब्लॉक कराएं।
संदिग्ध लेनदेन की सूचना बैंक को दें। इससे आपके पैसे की रिकवरी में आसानी होगी।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button