ताजा

गिरफ्तार डीएसपी देविंदर सिंह पर कांग्रेस- अगर ये खान होते तो… भाजपा ने बताया पाक की भाषा

जम्मू-कश्मीर में दो आतंकवादियों के साथ गिरफ्तार हुए डीएसपी देविंदर सिंह से पूछताछ हो रही है। वहीं दूसरी तरफ उनकी गिरफ्तारी को लेकर राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सरकार से कई सवाल पूछे हैं। वहीं भाजपा ने भी पलटवार करते हुए कांग्रेस पर पाकिस्तान की भाषा बोलने का आरोप लगाया है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस ने आज जिस तरह का व्यवहार दिखाया है वह वह लोकतांत्रिक सर्जिकल स्ट्राइक का हकदार है।

प्रेस कांफ्रेस करके संबित पात्रा ने कहा, कांग्रेस पार्टी ने आज जिस तरह का व्यवहार दिखाया वह लोकतांत्रिक सर्जिकल स्ट्राइक का हकदार है। वे रोज पाकिस्तान को खुश कर रहे हैं। कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी और मीडिया प्रमुख रणदीप सुरजेवाला के बयान की भाजपा निंदा करती है। कांग्रेस ने समय-समय पर आतंक को धर्म से जोड़ा है। उन्होंने भगवा आतंक और हिंदू आतंकवाद जैसे शब्दों को गढ़ा है। सोनिया गांधी के कहने पर उन्होंने ‘भगवा आतंक’ शब्द गढ़ा था।

भाजपा नेता ने कहा, ‘रोज सहलाते हैं पाकिस्तान की पीठ को, खंजर भोंकते हैं, हिंदुस्तान की पीठ पर, फिर कहते हैं, हमें देशद्रोही न कहो, तुम पर छोड़ते हैं हम, बताओ इनको क्या कहें। जम्मू-कश्मीर का एक डीएसपी आतंकी गतिविधि में शामिल होने के कारण गिरफ्तार हुआ है। इस पूरे प्रकरण के बाद कांग्रेस ने वही किया है, जिसमें वह निपुण है, सक्षम है और वह है भारत पर हमला और पाकिस्तान को बचाने की साजिश।’

कांग्रेस पर धर्म की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए भाजपा नेता ने कहा कि इस पूरी प्रक्रिया में कांग्रेस के अधीर रंजन ने आव देखा न ताव और मिनटों के अंदर धर्म ढूंढ लिया। आतंकवाद पर धर्म की राजनीति करना कांग्रेस की संस्कृति है। कांग्रेस ने मोदी जी पर हमला करते हुए उन्हें हिन्दू जिन्ना कहा था। हिंदू जिन्ना, हिंदू आतंकवाद जैसे शब्दों का प्रयोग करना कहीं न कहीं हिंदुओं को आतंकी सिद्ध करना है। राहुल गांधी ने भी कहा था कि हमें सिमी या इस्लामिक आतंकवाद से डर नहीं है, हमें हिंदुओं से डर है।

कांग्रेस से सवाल पूछते हुए पात्रा ने कहा, ‘कांग्रेस पाकिस्तान को क्लीन चिट क्यों देना चाहती है? भारत आज यह सवाल कांग्रेस से पूछ रहा है। 26/11 के बाद भी कांग्रेस ने ऐसा ही किया था। तब सोनिया गांधी ने हमलों के लिए आरएसएस को दोषी ठहराने के लिए दिग्विजय सिंह को भेजा था। राहुल गांधी पाकिस्तान के सहयोगी के रूप में क्यों काम कर रहे हैं? यही हमारा सवाल है। जब पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में एक डोजियर प्रस्तुत किया तो राहुल गांधी का नाम सूची में सबसे ऊपर था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button