न्यू दिल्ली

कांग्रेस घोषणापत्र ने युवाओं को लुभाया, महिलाओं को एक-तिहाई आरक्षण का वादा

दिल्ली कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के लिए आज रविवार को अपना घोषणापत्र जारी किया। पार्टी ने बेरोजगार युवाओं के लिए बेहद शानदार योजनाएं घोषित कीं। पार्टी ने वादा किया है की अगर वह सरकार में आती है तो स्नातक बेरोजगार युवाओं के लिए 5000 रुपये प्रति माह और पोस्ट ग्रेजुएट बेरोजगार युवाओं के लिए साढे़ सात हजार रुपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा।  

इसके अलावा पार्टी ने सरकारी नौकरियों में महिलाओं के लिए एक तिहाई रिजर्वेशन देने की भी घोषणा की। कांग्रेस ने हर परिवार को न्यूनतम  6000 रुपये प्रति माह पेंशन देने का भी वायदा किया। इसके अलावा वृद्ध परिवारजनों के लिए भी  5000 रुपये प्रतिमाह की दर से वृद्धा पेंशन दिया जाएगा। पार्टी ने कहा कि उसका घोषणापत्र अनूठा है और इसकी मदद से वह सत्ता में वापसी करने में कामयाब रहेगी। 

कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र के साथ एक और विशेष घोषणापत्र जारी किया जिसमें दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए कई अहम कदम उठाने की बात कही गई। घोषणापत्र के मुताबिक अगर दिल्ली की सत्ता पर कांग्रेस काबिज होती है तो सरकार का 25 फीसदी बजट प्रदूषण से निपटने पर खर्च किया जाएगा। इस बजट से दिल्ली में पेड़ लगाए जाएंगे और प्रदूषण से निपटने के लिए अत्याधुनिक मशीनें मंगवाई जाएंगी। इससे दिल्ली के प्रदूषण को उपयोगी पदार्थों में बदला जा सकेगा।

कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी सरकार की मुफ्त बिजली योजना से एक कदम आगे बढ़ते हुए 300 यूनिट तक फ्री बिजली देने का वादा किया। इसके अलावा 300 से 400 यूनिट बिजली के बिल पर 50 फीसदी की छूट दी जाएगी। इसी तरह 400 से 500 यूनिट बिजली के बिल पर 30 फीसदी और 500 से 600 यूनिट बिजली के बिल पर 25 फीसदी सब्सिडी दी जाएगी। इसके अलावा छोटे दुकानदारों को भी 200 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी। उद्योगों को वापस लाने के लिए कांग्रेस विशेष अभियान चलाएगी जिससे दिल्ली के युवाओं को पर्याप्त नौकरियां मिल सकें। 

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने कहा कि दिल्ली के चुनाव को विकास के मुद्दों की बजाए सांप्रदायिक बनाने की कोशिश हो रही है इसके पीछे भाजपा और आम आदमी पार्टी दोनों ही अपनी नाकामियां छिपाने की कोशिश कर रही हैं उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि चुनाव के दौरान कोई भी दल गैर राजनीतिक मुद्दों को हवा देकर चुनाव का माहौल बदलने की कोशिश न कर सके। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button