पॉलिटिक्स

सत्ता की भागीदारी के लिए कांग्रेस का कोई मुकाबला नहीं : प्रशांत किशोर

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस अपनी धुर-विरोधी पार्टी शिवसेना के साथ सरकार बनाने पर प्रशांत किशोर ने तंज कसा है। जनता दल (यूनाइटेड) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट में लिखा कि बिना किसी महत्वपूर्ण और सार्थक प्रयास के अपनी राजनीतिक महत्ता और सत्ता में भागीदारी बनाए रखने में कांग्रेस के वर्तमान नेतृत्व का कोई मुक़ाबला नहीं है। विधानसभा चुनाव में 44 सीटें जीतकर चौथे स्थान पर रहने वाली कांग्रेस, भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए अपनी धुर विरोधी पार्टी शिवसेना के साथ आ गई।

बिना किसी महत्वपूर्ण और सार्थक प्रयास के अपनी राजनीतिक महत्ता और सत्ता में भागीदारी बनाए रखने में काँग्रेस के वर्तमान नेतृत्व का कोई मुक़ाबला नहीं है।#Maharashtra


उल्लेखनीय है कि प्रशांत किशोर ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC)के मामले में बिना नाम लिए भाजपा पर भी हमला बोला। प्रशांत ने ट्वीट कर कहा कि 15 से अधिक राज्यों में गैर-भाजपाई मुख्यमंत्री हैं और ये ऐसे राज्य हैं जहां देश की 55 फ़ीसदी से अधिक जनसंख्या है। उन्होंने आगे कहा कि आश्चर्य यह है कि उनमें से कितने लोगों से एनआरसी पर विमर्श किया गया और कितने अपने-अपने राज्यों में इसे लागू करने के लिए तैयार हैं।

15 plus states with more than 55% of India’s population have non-BJP Chief Ministers. Wonder how many of them are consulted and are on-board for NRC in their respective states!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button