पॉलिटिक्स

झारखंड में 16 सीटों पर जीत से बिहार महागठबंधन में बढ़ेगी कांग्रेस की हैसियत

झारखंड में 16 सीटों पर जीत से बिहार महागठबंधन में कांग्रेस की हैसियत बढ़ेगी। प्रदेश कांग्रेस के नेता बिहार महागठबंधन में बढ़-चढ़कर दावेदारी करने को तैयार है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की मानें तो राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस ने सदैव विपक्ष को एक सबल नेतृत्व प्रदान किया है।

वहीं, झारखंड में विपक्षी गठबंधन की जीत से कांग्रेजनों में उत्साह का स्वाभिवक संचार हुआ है। जब से झारखंड बना है, यह पहला मौका है जब 16 विधायक चुनाव जीते है। पार्टी का मानना है कि 2015 के चुनाव में जब कांग्रेस ने सशक्त महागठबंधन तैयार किया तो जनता ने उसे स्वीकार किया और कांग्रेस को 27 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। इसलिए कांग्रेस आलाकमान अगर बिहार में एक बार फिर सशक्त महागठबंधन बनाने की दिशा में प्रयास करेगा तो बिहार में कांग्रेस प्रमुख भूमिका में नजर आएगी।

पार्टी नेता व विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्र के अनुसार बिहार महागठबंधन में जो भी पार्टियां है वे अगर आपसी समझा को विकसित करेगी तो जदयू-भाजपा सरकार को परास्त करने में हम सफल होंगे। कहा कि बिहार की जनता भी विकल्प खोज रही है। महंगाई, बेरोजगारी, नारी सुरक्षा को लेकर जनता में क्षोभ है। झारखंड में विपक्षी महागठबंधन की जीत के बाद प्रदेश कांग्रेस ने एक नया नारा गढ़ा है-‘झारखंड में जीत हमारी/ अब बिहार की बारी / नीतीश कुमार कर लें जाने की तैयारी। ’ कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के अनुसार बिहार की राजनीति में कांग्रेस इसी के इर्द-गिर्द अपनी भूमिका का निर्वाह करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button