पॉलिटिक्स

लखनऊ में भयावह हिंसा के बाद यूपी में जुमे की नमाज को लेकर हुआ बड़ा ऐलान, सीएम योगी ने दिये यह आदेश

लखनऊ. नागरिकता कानून के विरोध में लखनऊ में हुई हिंसा के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आलाधिकारियों के साथ एक बैठक की। बैठक में चीफ सेक्रेटरी, प्रमुख सचिव गृह और डीजीपी शामिल हुए। इस बीच सीएम योगी ने अधिकारियों को हिंसा फैलाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिये और सख्त नाराजगी जाहिर की। वहीं सीएम योगी ने आज जुमे की नमाज को देखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये। जिसके बाद पुराने लखनऊ में हाई अलर्ट घोषित है। सीएम योगी आदित्यनाथ के सख्त निर्देशों के बाद पुलिस की कई टीमें ताबड़तोड़ गिरफ्तारियों में जुट गई है। साथ ही लखनऊ में हुए हिंसक प्रदर्शन पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शांति की अपील की।

सीएम ने जताई सख्त नाराजगी
नागरिकता कानून के खिलाफ लखनऊ में हुए बड़े प्रदर्शन के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास पर बड़ी बैठक हुई। बैठक में प्रदेश के चीफ सेक्रेटरी, प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी, डीजीपी ओपी सिंह समेत तमाम आलाधिकारी शामिल हुए। इसके अलावा जो तमाम जिले के जिला अधिकारी, कप्तान समेत बड़े अधिकारी भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक से जुड़े। सीएम की सबसे पैनी लखनऊ के हालातों पर बनी हुई है। सूत्रों के मुताबिक लखनऊ में हुए भयावह प्रदर्शन के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद नाराज हैं। सीएम योगी ने लखनऊ में हुए खौफनाक प्रदर्शन को लेकर संबंधित अधिकारियों की जवाबदेही तय करने के भी निर्देश दिये। सीएम योगी ने अधिकारियों से साफ-साफ सवाल किया है कि आखिर इतनी बड़ी चूक कैसे हुई। उन्होंने कहा कि यूपी में अब आगे ऐसी कोई भी घटना न हो और तमाम जिलों में शांति व्यवस्था बनी रहे इसके लिये सभी अधिकारी तत्परता से लगे रहें। उन्होंने कहा है कि जो भी सरकारी संपतियों का नुकसान हुआ है, उसे आरोपियों की संपति कुर्क करके वसूला जाएगा।

एक्शन में यूपी पुलिस
वहीं नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में गुरुवार को लखनऊ और संभल में हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद यूपी पुलिस एक्शन में आ गई है। सीएम योगी आदित्यनाथ के सख्त निर्देशों के बाद पुलिस की कई टीमें ताबड़तोड़ गिरफ्तारियों में जुट गई है। इसी क्रम में लखनऊ में 112 लोगों को हिरासत में लिया गया है। वहीं सोशल मीडिया पर भी यूपी पुलिस बड़ा अभियान चला रही है। जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया पोस्ट किए गए आपत्तिजनक, भ्रामक संदेशों के संबंध में प्रदेश में कुल 13 मामले दर्ज कर 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा 1786 ट्विटर, 3037 फेसबुक व 38 यूट्यूब पोस्ट को रिपोर्ट किया गया है और अब उनके खिलाफ विधिक कार्रवाई की जा रही है।

अखिलेश ने की शांति की अपील
साथ ही लखनऊ में हुए हिंसक प्रदर्शन पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शांति की अपील की। अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने बहाना करके नागरिकता संशोधन कानून (CAA) एक्ट लाने का काम किया। शांति हो मेरी उन लोगों से अपील है। जहां तक यह बात पहुंचे कि लोग अपने हाथ में कानून व्यवस्था ना लें। अपना धरना प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से करें। जो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का रास्ता था सत्याग्रह का वह रास्ता अपनाएं. उसी से जीत हासिल होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button