पॉलिटिक्स

चिदंबरम की तिहार जेल से आने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में सबसे पहला बात भारत की अर्थव्यवस्था पर।

नई दिल्ली. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद गुरुवार को पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि अगर साल खत्म होते होते विकास दर 5% पर आ जाती है तो हम भाग्यशाली होंगे। अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही है, लेकिन सरकार को इसकी चिंता नहीं है। प्याज के दाम 100 रुपए से ऊपर पहुंच गए हैं।

चिदंबरम ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री अर्थव्यवस्था को लेकर चुप्पी साधे हुए हैं। उन्होंने अपने मंत्रियों को गुमराह करने वाले बयान देने के लिए छोड़ दिया है। सरकार अर्थव्यवस्था के प्रबंधन में पूरी तरह से नाकाम रही है। इससे पहले चिदंबरम संसद भी गए। यहां उन्होंने कहा कि सरकार मेरी आवाज नहीं दवा सकती।

‘75 लाख कश्मीरियों को खुली हवा में सांस लेने का मौका दें’
चिदंबरम ने कहा, ‘‘मैं कल रात 8 बजे खुली हवा में सांस ले पाया। मेरी पहली प्रार्थना यही है कि 75 लाख कश्मीरियों को भी यह मौका मिले, जिन्हें आजादी के मूल अधिकार से वंचित कर 4 अगस्त, 2019 को हिरासत में ले लिया गया। मुझे बिना किसी वजह के नजरबंद कश्मीरी नेताओं की चिंता है। आजादी हमारा अधिकार है और इसकी रक्षा के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए।’’

‘‘मौजूदा सरकार में अर्थव्यवस्था की समझ रखने वालों की कमी है। जो लोग इसे बेहतर तरीके से डील कर सकते थे, उन्हें पद से हटा दिया गया। अगर सरकार मुझे इजाजत दे तो कश्मीर जाकर वहां के हालात देखना चाहता हूं।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button