राज्यउत्तर प्रदेशन्यू दिल्लीबिहारमहाराष्ट्र

8 हजार लोगों पर हत्या की साजिश और अन्य धाराओं में केस दर्ज किया।

नई दिल्ली/अहमदाबाद/लखनऊ. गुजरात पुलिस ने नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन में शामिल रहे 8 हजार लोगों पर हत्या की साजिश और अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। शुक्रवार को इस मामले में अहमदाबाद से कांग्रेस पार्षद समेत 49 लोगों की गिरफ्तारी हुई। उधर, उत्तर प्रदेश के संभल में हिंसा के मामले में 17 लोगों के खिलाफ एफआईआर हुई। इनमें समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क और फिरोज खान भी शामिल हैं। वहीं, असम में प्रदर्शन और हिंसा के बाद बंद हुई इंटरनेट सेवा 9 दिन बाद बहाल हुई।

दिल्ली में प्रदर्शन की वजह से कई एयरलाइंस के क्रू मेंबर्स को एयरपोर्ट तक पहुंचने में दिक्कत आ रही है। एयरपोर्ट अधिकारियों ने शुक्रवार सुबह बताया कि इस वजह से आईजीआई से कुछ उड़ानों पर असर पड़ा। अधिकारियों ने कहा कि दृश्यता कम होने की वजह से 5 फ्लाइट डायर्वट करनी पड़ीं, जबकि 12 उड़ानों में देरी हुई। इससे पहले गुरुवार को हरियाणा बॉर्डर पर बैरिकेडिंग के कारण दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेसवे पर 10 किमी लंबा जाम लगा था। इसमें कई एयरलाइंस के क्रू मेंबर्स फंस गए, इससे 16 उड़ानों में देरी हुई। इंडिगो को 19 उड़ानें रद्द करनी पड़ी थीं।

हिंसक प्रदर्शन के बाद राज्यों के हालात 

दिल्ली

जुमे की नमाज के बाद नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ जामिया नगर समेत कई जगहों पर प्रदर्शन होगा। जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक मार्च निकाल रहे भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ रावण हिरासत में लिए गए। नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के 14 में से 12 जिलों में धारा 144 लागू है। प्रदर्शन में हिंसा से निपटने के लिए सीआरपीएफ और आरएएफ की 10 कंपनियां तैनात की गईं। कई इलाकों में ड्रोन से नजर रखी जा रही।

डीएमआरसी के मुताबिक, राजधानी में आज सभी मेट्रो स्टेशन खुले हैं। गुरुवार को 20 स्टेशनों को करीब 7 घंटे तक बंद रखना पड़ा था। सुरक्षा कारणों का हवाला देकर 10 इलाकों में इंटरनेट सेवाएं भी 4 घंटे बंद रही थीं। पुलिस ने स्वराज इंडिया के योगेंद्र यादव, वकील प्रशांत भूषण, शिक्षाविद हर्ष मंदर, छात्र नेता उमर खालिद और कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित समेत 1200 लोगों को हिरासत में लिया था।उन्हें बवाना, नांगलोई और केशवपुरम में बनाई गई अस्थायी जेलों में भेजा गया।

गुजरात

अहमदाबाद के शाह आलम इलाके में प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार को पुलिस के जवानों पर पथराव किया था। इस हमले में एक डीसीपी, एक एसीपी समेत 21 पुलिसकर्मी घायल हुए। मामले में 5 हजार लोगों पर ईसनपुर थाने में केस दर्ज हुआ है, जिसमें हत्या की साजिश, शासकीय कार्य में बांधा डालने जैसी धाराएं लगाई गईं। शुक्रवार को कांग्रेस पार्षद शहजाद खान समेत 49 लोगों की गिरफ्तारी हुई।

दूसरी ओर, गुरुवार को बनासकांठा के मुख्य हाईवे पर भीड़ ने पुलिस की गाड़ी पर हमला किया था। इस मामले में 3022 प्रदर्शनकारियों पर केस दर्ज किया गया। इनमें से 22 की पहचान कर ली गई है।

उत्तर प्रदेश 

राज्य में धारा 144 लागू होने के बावजूद गुरुवार को लखनऊ और संभल में नागरिकता कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन हुए थे। पुलिस ने लखनऊ में 7 केस दर्ज किए और 200 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया। फायरिंग में मारे गए युवक के पोस्टमॉर्टम की वीडियोग्राफी हुई।

संभल जिले में हिंसा और आगजनी के मामले में सपा सांसद डॉक्टर शफीकुर्रहमान बर्क समेत 17 पर केस दर्ज हुआ है। प्रदेश में अब तक कुल 3305 लोग हिरासत में लिए गए। 20 जिलों में मोबाइल इंटरनेट ठप है। जुमे की नमाज के चलते प्रशासन मुस्तैद है। 

बिहार

राजद ने नागरिकता कानून के खिलाफ शनिवार को प्रदेश में बंद बुलाया है। तेजस्वी यादव ने कहा कि यह कानून असंवैधानिक और मानवता विरोधी है। इससे भाजपा का विभाजनकारी चरित्र सामने आ गया है। गुरुवार को बंद के दौरान राज्य के कई जिलों में माकपा कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक और हाईवे जाम किए थे।

असम

सभी जिलों में शुक्रवार को इंटरनेट सेवा बहाल हो गई है। यहां प्रदर्शन और हिंसा के चलते 11 दिसंबर से इंटरनेट पर रोक लगाई गई थी। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा- असम की जनता को भरोसा दिलाता हूं कि भाषा और संस्कृति के आधार पर किसी के अधिकारों का हनन नहीं होगा।


तमिलनाडु

चेन्नई में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन करने वाले 600 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। इनमें अभिनेता सिद्धार्थ और संगीतकार टीएम कृष्णा भी शामिल हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button