latest

हरियाणा के बेटे ने दिखाई सोच की उड़ान, पानीपत से निकली गुलमकई देगी दुनिया को खास संदेश

मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है…। कलम की ताकत से इस्लामी दुश्मनों को बेनकाब करने वाली मलाला युसुफजई के संघर्षों पर बनी गुलमकई फिल्म आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई। शार्ट मूवी बनाने के इरादे से वालीवुड में कदम रखने वाले हरियाणा के पानीपत के बेटे संजय सिंगला की फिल्‍म पूरी दुनिया को खास संदेश देगी। सिंगला ने ‘गुलमकई’फिल्म बना कर एक बार फिर पानीपत का नाम विश्व के पटल पर चमकाया है। पानीपत से निकली गुलमकई फिल्म अब दुनिया के बेटियों को विषम परिस्थितियों से लोहा लेकर जीवन में कामयाब होने की प्रेरणा देगी।

देशभर के सिनेमाघरों में आज रिलीज हो गई मलाला युसुफजई पर बनी फिल्म गुलमकई

गुलमकई फिल्म में पाकिस्तान के उस स्वात वैली का दृश्य दिखाया गया है जहां 15 वर्ष की मलाला को शिक्षा हासिल करने से रोका गया। गोलियां भी खानी पड़ी थी। इन सब संघर्षों को झेल कर मुस्लिम कौम की बहादुर बेटी मलाला ने हार नहीं मानी। कलम की ताकत को बनाए रखा। तालिबानियों के जुल्म को ब्लॉग (गुलमकई) में लिख कर दुनिया को बताती रही कि गोलियों से उसका कुछ बिगडऩे वाला नहीं है। वन चाइल्ड, वन टीचर, वन बुक एंड वन पेन कैन चेंज द वर्ल्‍ड…। मन में इस पंक्ति को बार बार दोहरा कर जुनून बनाए रखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button