latest

लकड़ी बीनने गई महिला का बाघ ने किया शिकार, 50 मीटर तक घने जंगल में घसीटा

मध्य प्रदेश के कटनी जिले के विजयराघवगढ़ सर्किल बीट घुघरी में बाघ ने एक महिला का शिकार कर लिया। महिला जंगल में लकड़ी बीनने गई थी। वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार, रोशनी (25) पुत्री प्यारे लाल गोंड गांव की तीन-चार महिलाओं के साथ जंगल में गई थी।

सोमवार दोपहर रोशनी पर बाघ ने हमला कर दिया। वह उसे करीब 50 मीटर दूर तक घसीटता ले गया। बाघ के हमले में महिला की मौत हो गई। कटनी के जिला वन अधिकारी आरके राय ने बताया कि बाघ ने महिला का शिकार किया है। नियमानुसार महिला के स्वजनों को सहायता राशि दी जा रही है।बाघों ने बनाए नए ठिकाने, अब कॉरिडोर की जरूरत

बाघों के हमलों से बचने के लिए मध्य प्रदेश में बाघों की सुरक्षा और उनकी वंशवृद्धि के लिए संरक्षित क्षेत्रों के बीच सुरक्षित कॉरिडोर की जरूरत महसूस होने लगी है। वन विभाग की ताजा रिपोर्ट बताती है कि प्रदेश के 11 जिलों में बाघों की आवाजाही बढ़ गई है। इनमें कुछ ऐसे जिले भी हैं, जिनमें पहले कभी बाघ नहीं देखे गए। ऐसे हालात में संरक्षित क्षेत्रों में बाघों के बीच वर्चस्व की लड़ाई की आशंका बढ़ गई है। बाघों के प्रदेश की सीमा से बाहर जाने का एक कारण यह भी बताया जा रहा है।

भोपाल में कुल 18 ठिकाने

टाइगर एस्टीमेशन 2018 के तहत प्रदेश में 526 बाघ हैं। यह आंकड़ा पिछले चार साल में बढ़ा है, क्योंकि वर्ष 2014 की गणना में प्रदेश में 308 बाघ पाए गए थे। इसके साथ ही प्रदेश के संरक्षित क्षेत्र, कान्हा, बांधवगढ़ एवं पेंच टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या पार्को की क्षमता से ज्यादा हो गई है तो सामान्य वनमंडलों में भी बाघ दिखाई देने लगे हैं। भोपाल की ही बात करें तो यहां चार नए बाघ देखे जा रहे हैं। इन्हें मिलाकर भोपाल के आसपास 18 बाघों का मूवमेंट बताया जा रहा है।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button