latest

मछली उत्पादन में बढ़ोत्तरी पर जोर, मछली के निर्यात को बढ़ाने से विदेशी मुद्रा बढ़ने की उम्मीद

[: जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। गत वर्षो में मछली उत्पादन की सात प्रतिशत औसत वार्षिक वृद्धि को ध्यान में रखते हुए सरकार ने मत्स्य पालन पर विशेष फोकस किया ताकि रोजगार के अवसर बढ़ने के साथ विदेशी मुद्रा का खजाना भी बढ़े। वर्ष 2024-25 तक मछली के निर्यात को बढ़ा कर एक लाख करोड़ रुपये करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मछली पालन के साथ समुद्री शैवाल व खरपतवार उगाने और केज कल्चर को भी बढ़ावा देने का प्रस्ताव किया है।

सरकार मछुआरों की सुरक्षा, समृद्धि और भविष्य को लेकर चिंतित

सरकार मछुआरों की सुरक्षा, समृद्धि और भविष्य को लेकर चिंतित दिखी। तटीय क्षेत्रों में रहने वाले युवाओं को मत्स्य प्रसंस्करण के जरिए लाभ मिलता है। जिससे 32 लाख से अधिक लोगों को सीधे रोजगार मुहैया होता है। बजट पूर्व पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण में मत्स्यपालन को बढ़ावा देने की संस्तुति की गयी थी। यह क्षेत्र नियमित प्रगति को दर्शाता है।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button