इकोनामी एड फ़ाइनेंस

प्रदूषण भारत में लील रहा है सबसे ज्यादा जिंदगियां, 10 देशों की सूची में भारत शीर्ष पर

: वर्तमान में प्रदूषण वैश्विक स्तर पर एक विकराल समस्या का रूप ले चुका है। इस संदर्भ में हाल ही में आई एक रिपोर्ट देश के लिए चिंता बढ़ाने वाली है। इसमें बताया गया है कि वर्ष 2017 में प्रदूषण के कारण सबसे ज्यादा लोगों की जान भारत में गई है। ग्लोबल एलायंस ऑन हेल्थ एंड पॉल्यूशन (जीएएचपी) की इस रिपोर्ट में वैश्विक, क्षेत्रवार और देश स्तर पर प्रदूषण से होने वाली मौतों के बारे में बताया गया है।
विश्व स्तर पर 15 फीसद मौत की वजह प्रदूषण
[रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2017 में वैश्विक स्तर पर हुई कुल मौतों में 15 फीसद की वजह प्रदूषण था। इतना ही नहीं, प्रदूषण के कारण दुनियाभर के 2.75 करोड़ लोग शारीरिक रूप से अक्षम हो गए। इस रिपोर्ट में इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मेट्रिक्स इवैल्यूएशन के सबसे हालिया ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज डाटा का प्रयोग किया गया है।
प्रदूषण के कारण जिन 10 देशों में सबसे अधिक लोग मरे उनमें अमीर और गरीब दोनों देश शामिल हैं
रिपोर्ट में सामने आया है कि सबसे अधिक प्रदूषण के कारण जिन 10 देशों में सबसे अधिक जानें गई हैं उनमें दुनिया के बड़े और अमीर दोनों देश शामिल हैं। साथ ही कुछ गरीब देश भी इस सूची में मौजूद हैं।
सूची में भारत शीर्ष पर, प्रदूषण के कारण 23 लाख लोगों को समयपूर्व जान गंवानी पड़ी
इस सूची में भारत शीर्ष पर है, जहां प्रदूषण के कारण 23 लाख से ज्यादा लोगों को समयपूर्व जान गंवानी पड़ी। इसके बाद चीन का नंबर आता है, जहां वर्ष 2017 में 18 लाख से अधिक लोगों की प्रदूषण के कारण जान गई। शीर्ष 10 की सूची में अमेरिका भी शामिल है, जहां करीब 1.97 लाख लोगों की मौत प्रदूषण से हुई। सूची में अमेरिका सातवें स्थान पर है। वहीं, अगर एक लाख लोगों पर प्रदूषण के कारण जान गंवाने वालों की बात की जाए तो इस सूची में अमेरिका 132वें पायदान पर रहा।
प्रदूषण से होने वाली मौतों के संबंध में तीन सूचियां बनी, केवल भारत ही तीनों सूची में शामिल
इस रिपोर्ट में प्रदूषण से होने वाली मौतों के संबंध में तीन सूचियां तैयार की गई हैं। एक सूची में जहां सभी तरह के प्रदूषण के कारण जान गंवाने वालों की संख्या दी गई है, वहीं दूसरी सूची में केवल वायु प्रदूषण से होने वाली मौतों का जिक्र किया गया है। इसके अलावा तीसरी सूची में एक लाख लोगों पर प्रदूषण के कारण जान गंवाने वालों की संख्या के आधार पर देशों की रैंकिंग तैयार की गई है। चिंताजनक बात यह है कि केवल भारत ही ऐसा देश है, जो तीनों सूची में शीर्ष 10 में शामिल है।
आबादी के अनुपात में प्रदूषण के कारण मौतों की संख्या अफ्रीकी देश चाड शीर्ष पर है
उस सूची की बात करें, जिसमें आबादी के अनुपात में प्रदूषण के कारण जान गंवाने वालों की संख्या का जिक्र किया गया है तो उसमें कई ऐसे छोटे देश भी शामिल हैं, जहां पर जनसंख्या के आकार में प्रदूषण का प्रभाव अधिक गंभीर है। इस सूची में अफ्रीकी देश चाड शीर्ष पर है, जहां एक लाख लोगों पर 287 लोगों की जान प्रदूषण के कारण जाती है। वहीं, भारत इस सूची में 10वें स्थान पर है, जहां एक लाख लोगों पर प्रदूषण के कारण 174 लोगों की जान गई।
रिपोर्ट में वायु प्रदूषण को सबसे खतरनाक बताया गया है
इस रिपोर्ट की उन दोनों सूचियों में काफी समानता है, जिसमें प्रदूषण के कारण जान गंवाने वाले और केवल वायु प्रदूषण के कारण होने वाली मौतों के आधार पर देशों की रैंकिंग तय की गई है। रिपोर्ट से यह भी सामने आया है कि वायु प्रदूषण इनडोर और आउटडोर दोनों ही परिवेश में स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने वाला सबसे खतरनाक प्रदूषण का प्रकार है।
शीर्ष 10 देश, जहां प्रदूषण के कारण सबसे ज्यादा जानें गई

  1. भारत 23,26,771
  2. चीन 18,65,566
  3. नाइजीरिया 2,79,318
  4. इंडोनेशिया 2,32,974
  5. पाकिस्तान 2,23,836
  6. बांग्लादेश 2,07,922
  7. अमेरिका 1,96,930
  8. रूस 1,18,687
  9. इथियोपिया 1,10,787
  10. ब्राजील 1,09,438
    प्रदूषण के कारण एक लाख पर होने वाली मौतों के मामले में शीर्ष 10 देश
  11. चाड 287
  12. मध्य अफ्रीकी गणराज्य 251
  13. उत्तर कोरिया 202
  14. नाइजर 192
  15. मैडागास्कर 183
  16. पापुआ न्यू गिनी 183
  17. दक्षिण सूडान 180
  18. सोमालिया 179
  19. सर्बिया 175
    10 भारत 174
    शीर्ष 10 देश, जहां वायु प्रदूषण के कारण सबसे ज्यादा जानें गई
  20. चीन 12,42,987
  21. भारत 12,40,529
  22. पाकिस्तान 1,28,005
  23. इंडोनेशिया 1,23,753
  24. बांग्लादेश 1,22,734
  25. नाइजीरिया 1,14,115
  26. अमेरिका 1,07,507
  27. रूस 99,392
  28. ब्राजील 66,245
  29. फिलीपींस 64,386।
    [

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button