latest

जब Homi Bhabha ने कहा था 18 माह में बना सकते है परमाणु बम और डर गया था अमेरिका

होमी जहांगीर भाभा देश के उन वैज्ञानिकों के शामिल हैं जिन्‍होंने पूरी दुनिया में भारत का डंका बजाया था। एक समय वो भी था जब उनकी काबलियत की ही वजह से अमेरिका तक उनसे डरने लगा था। इसकी वजह थी उनका वो बयान जो उन्‍होंने परमाणु बम बनाने को लेकर दिया था। उनका कहना था कि भारत जब चाहे तब महज 18 माह के अंदर परमाणु बम बनाने की क्षमता रखता है। भाभा देश के उन लोगों में भी शामिल हैं जिनकी मौत को हमेशा ही एक साजिश के तौर पर देखा जाता रहा है। इस साजिश के पीछे सबसे बड़ा आरोप अमेरिका की खुफिया एजेंसी पर लगता रहा है। 24 नवंबर 1966 को फ्रांस के माउंट ब्‍लैंक के आसमान में जो विमान क्रैश हुआ था और इसमें भाभा समेत सभी यात्री मारे गए। भाभा को ही ‘आर्किटेक्ट ऑफ इंडियन एटॉमिक एनर्जी प्रोग्राम’ कहा जाता है।

न्‍यूक्लियर प्रोग्राम के जनक थे भाभा
[: अक्टूबर 1965 में जब होमी भाभा ने रेडियो पर कहा कि यदि सरकार उन्‍हें छूट दे तो वह 18 महीनों में परमाणु बम बना सकते हैं। यह केवल एक उत्‍साह में दिया गया बयान नहीं था बल्कि इसको लेकर वह काफी हद तक आश्‍वस्‍त भी थे। उनका मानना था कि यदि भारत को ताकतवर बनना है तो ऊर्जा के अलावा दूसरे क्षेत्र जैसे कृषि और मेडिसिन में भी न्‍यूक्लियर एनर्जी का इस्‍तेमाल करना होगा और इसकी संभावना तलाशनी होंगी। वह देश की सुरक्षा को सर्वोच्‍च प्राथमिकता देते हुए चाहते थे कि भारत के पास में परमाणु बम बनाने की महारत हासिल हो। वर्तमान में भारत ने न्‍यूक्लियर प्रोग्राम को लेकर जितनी तरक्‍की की है उसकी नींव होमी भाभा ने ही रखी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button