latest

ग्रामीण संस्थाओं को भी जोड़ेगी पीएमजीएसवाई की सड़कें

[गांवों को परस्पर जोड़ने के बाद प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तीसरे चरण में अब ग्रामीण संस्थाओं के बीच भी संपर्क मार्ग बनाएगी। योजना का दायरा गांवों को चौतरफा जोड़ने तक बढ़ा दिया गया है। इस चरण में पीएमजीएसवाई में अब तक निर्मित सड़कों के उन्नयन को भी शामिल कर लिया गया है, ताकि पुरानी पड़ चुकी सड़कों को एक नया जीवन मिल सके। इस योजना के तहत 1.25 लाख किलोमीटर लंबाई की सड़कें बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिस पर 80 हजार करोड़ रुपये से अधिक का खर्च आएगा। योजना के तीसरे चरण के प्रावधान का ऐलान चालू वित्त वर्ष के बजट में किया गया था।
पीएमजीएसवाई के तीसरे चरण में फंडिंग के प्रारुप में थोड़ी तब्दीली भी कर दी गई है, जिसके तहत सड़कों के निर्माण में केंद्र सरकार की हिस्सेदारी 60 फीसद और राज्यों की 40 फीसद कर दी गई है। हालांकि पूर्वोत्तर और अन्य हिमालयी राज्यों में यह योजना 90 फीसद और 10 फीसद के अनुपात में चलेगी। योजना के लिए स्वीकृत 80,250 करोड़ रुपये में से 53,800 करोड़ रुपये केंद्र खर्च करेगा, जबकि बाकी का बोझ राज्यों के कंधे पर होगा।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button