latest

कन्नौज बस हादसा : एक ही परिवार के पांच समेत छह लापता, मामा ने पैर देखकर की ट्रक चालक की पहचान

छिबरामऊ में ट्रक से भिड़ंत के बाद लगी आग में बस के अंदर जिंदा जले यात्रियों को पूरे शव नहीं मिले हैं। फोरेंसिक टीम ने स्लीपर सीट पर मिले मानव अंग के नौ नमूने एकत्र किए हैं। ऐसे में अभी तक बस में मरने वालों की सही जानकारी नहीं हो सकी है। वहीं बस में सवार रहे एक ही परिवार के पांच लोग और एक अन्य युवती का पता नहीं चल रहा है। ट्रक के अंदर मिले कंकाल को देखकर मामा ने पैरों से चालक के रूप में पहचान की है।

रईश तलाश रहा अपने भाई का परिवार

बस हादसे की जानकारी के बाद फर्रुखाबाद के कमालगंज थाना क्षेत्र के उगरापुर निवासी रईस अस्पताल और घटनास्थल पर अपने भाई के परिवार को तलाश रहा है। उसने बताया कि चतुर्वेदी बस सर्विस की स्लीपर बस में सवार होकर 42 वर्षीय भाई लईक अहमद, उनकी पत्नी 40 वर्षीय शाहिदा, 11 वर्षीय पुत्री शादिया, नौ वर्षीय पुत्र शान, सात वर्षीय पुत्र सैफ जयपुर के लिए शुक्रवार शाम को 4.30 बजे घर से निकले थे। शाम छह बजे रजीपुर से बस में सवार हुए थे। उनकी टिकट गुरसहायगंज से जयपुर तक की थी और सीट स्लीपर नंबर पर थी। बाकी टिकट नीचे की सीट नंबर के थे। मौके पर गए थे लेकिन भाई के परिवार का कोई पता नहीं लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button