latest

ईरानी कमांडर जनरल क़ासिम सुलेमानी की अमरीकी हवाई हमले में मौत

: ईरान की क़ुद्स फ़ोर्स के प्रमुख जनरल क़ासिम सुलेमानी बग़दाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हवाई हमले में मारे गए हैं. इस हमले की ज़िम्मेदारी अमरीकी ने ली है. इस हमले में कताइब हिज़बुल्लाह के कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस भी मारे गए हैं.
अमरीकी रक्षा विभाग की तरफ से बयान में कहा गया है कि “अमरीकी राष्ट्रपति के निर्देश पर विदेश में रह रहे अमरीकी सैन्यकर्मियों की रक्षा के लिए क़ासिम सुलेमानी को मारने का कदम उठाया गया है. अमरीका ने उन्हें आतंकवादी घोषित कर रखा था.”
इस बयान में कहा गया है कि “सोलेमानी बीते 27 दिसंबर समेत, कई महीनों से इराक़ स्थित अमरीकी सैन्य ठिकानों पर हमलों को अंजाम देने में शामिल रहे हैं. इसके अलावा बीते हफ़्ते अमरीकी दूतावास पर हुए हमले को भी उन्होंने अपनी स्वीकृति दी थी.”
बयान के अंत में कहा गया कि, “यह एयरस्ट्राइक भविष्य में ईरानी हमले की योजनाओं को रोकने के उद्देश्य से किया गया. अमरीका, चाहे जहां भी हो, अपने नागरिकों की रक्षा के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई को करना जारी रखेगा.”
अमरीकी मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि जनरल सुलेमानी और ईरान समर्थित मिलिशिया के अधिकारी दो कार में बगदाद एयरपोर्ट जा रहे थे तभी एक कार्गो इलाके में अमरीकी ड्रोन ने उन पर हमला कर दिया.
इस काफिले पर कई मिसाइलें दागी गईं. बताया गया कि कम से कम पांच लोगों की इसमें मौत हो गई है.
उनके मौत की पुष्टि ईरान की रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स ने भी कर दी है.
जनरल क़ासिम सुलेमानी की मौत मध्य-पूर्व से जुड़ी एक बड़ी घटना बताई जा रही है और आशंका यह भी जताई गई है कि ईरान और इसकी समर्थित मिडिल ईस्ट ताक़तें अब इसराइल और अमरीका के ख़िलाफ़ ज़ोरदार जवाबी कार्रवाई करेंगी.
बीते रविवार को ही अमरीका ने पूर्वी सीरिया और पश्चिमी इराक़ में स्थित कताइब हिज़बुल्लाह संगठन के ठिकानों को निशाना बनाया था. जिसमें कम से कम 25 लड़ाके मारे गए थे.
इसके बाद सोमवार को इराक़ी प्रधानमंत्री आदिल अब्दुल महदी ने कहा था कि अमरीकी हवाई हमला उनके देश की संप्रभुता का उल्लंघन है और इसके बाद वो अमरीका के साथ अपने रिश्तों की समीक्षा करेंगे.
वहीं कताइब हिज़बुल्लाह के (आज मारे गए) कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस ने कहा था कि वो इराक़ में स्थित अमरीकी बलों को मुंहतोड़ जवाब देंगे.
इसके बाद मंगलवार को बग़दाद स्थित अमरीकी दूतावास पर प्रदर्शनकारियों ने हमला किया और अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने इसके लिए ईरान को ज़िम्मेदार ठहराया.

जनरल सुलेमानी का परिचय

जनरल सुलेमानी ईरानी की एक ख़ास शख़्सियत थे. उनकी क़ुद्स फोर्स सीधे देश के सर्वोच्च नेता आयतोल्लाह अली ख़ामेनेई को रिपोर्ट करती है. सुलेमानी की पहचान देश के वीर के रूप में थी.
सुलेमानी को पश्चिम एशिया में ईरानी गतिविधियों को चलाने का प्रमुख रणनीतिकार माना जाता रहा है.
क़ुद्स फोर्स के कमांडर जनरल क़ासीम सुलेमानी को ईरान के सुप्रीम लीडर आयतोल्लाह अली ख़ामनेई ने ‘अमर शहीद’ का ख़िताब दिया है.
जनरल क़सीम सुलेमानी ने यमन से लेकर सीरिया तक और इराक़ से लेकर दूसरे मुल्कों तक रिश्तों का एक मजबूत नेटवर्क तैयार किया ताकि इन देशों में ईरान का असर बढ़ाया जा सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button