ताजा

अर्धसैनिक बलों में ‘वीआरएस’ की राह हुई आसान, अब 18 साल की नौकरी के बाद होगा सेवा सत्यापन

केंद्रीय अर्धसैनिक बलों में वीआरएस यानी स्वैच्छिक रिटायरमेंट लेने की राह आसान बनाई जा रही है। वीआरएस लेने के लिए जरूरी सेवा सत्यापन (वेरिफिकेशन ऑफ क्वालिफाइंग सर्विस) ‘वीक्यूएस’, जो पहले 25 साल की नौकरी पूरी होने के बाद होता था, अब वह 18 साल की सेवा के बाद किया जाएगा। सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, असम राइफल्स और एनएसजी में संबंधित विभाग 18 साल के बाद कर्मी की प्रशासनिक समीक्षा करेगा।

इससे पहले ‘वीक्यूएस’ 25 साल में होता था। इसके अलावा किसी कर्मी के रिटायर होने की तिथि से पांच साल पहले भी यह प्रक्रिया अमल में लाई जाती थी।

बता दें कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, असम राइफल्स और एनएसजी में दस लाख से ज्यादा जवान और अधिकारी कार्यरत हैं। अभी तक ‘वीक्यूएस’ सेवा सत्यापन 25 साल की नौकरी पूरी होने के बाद होता था। अगर किसी कर्मी को बीस साल की सेवा के बाद ही वीआरएस चाहिए होता, तो उस केस में तय समय से पहले उसकी प्रशासनिक समीक्षा की जाती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button